नए नियमों के चलते काटा 23 हज़ार का चालान, अब एक्टिवा मालिक दिनेश मदान की बड़ी मुश्किल

देश में नए ट्राफिक नियम लागू हो गए हैं जिसके चलते आम आदमी के सामने कई सारी परेशानी खड़ी हो गयी हैं| भारी भरकम चालान जुर्माना देखकर जनता सहमी हुई नज़र आ रही है 10 गुना तक जुर्माना बढ़ जाने के कारण लोग सड़कों पर वाहन निकालने से भी डर रहे हैं| इसी के चलते दिल्ली से एक आदमी के 23 हज़ार का चालान काटने का मामला सामने आया है| आपको बता दें कि दिल्ली निवासी एक शख्स का गुड़गांव में 23 हजार रुपये का चालान ट्रैफिक पुलिस ने काट दिया और साथ में उस व्यक्ति कि स्कूटी को भी सीज कर दिया गया है|

दिल्ली में काटे गए इस चालान की कॉपी सोशल मीडिया पर बहुत ज़ोर से वायरल हो रही है| स्कूटी के मालिक मदान ने बताया कि वो सोमवार को गुड़गांव किसी काम से गया था जिसके बाद जिला अदालत कॉम्पलेक्स के सामने स्थित सर्विस रोड पर उन्होंने अपना हेलमेट उतार दिया| वहीँ पास में खड़े पुलिसकर्मियों ने उसे रोक लिया और गाडी के कागज़ात मांगे|

मदान ने बताया कि उसके पास उस वक़्त कागजात मौजूद ना होने के कारण पुलिसकर्मियों ने उसका 23 हज़ार का चालान बना दिया| इसके बाद उसने ने पुलिसकर्मियों से कहा कि इतने की तो मेरी स्कूटी भी नहीं जितने का आपने चालान बना दिया है| मेरी स्कूटी पुरानी हो जाने की वजह से अब इसकी कीमत बस लगभग 15 हजार रूपए रहे गयी है|

आपको बता दें कि उस वक़्त मदान के पास न तो स्कूटी की आरसी थी और न हीं ड्राइविंग लाइसेंस, प्रदूषण सर्टिफिकेट और थर्ड पार्टी बीमा भी नहीं था| जिसके बाद पुलिस ने लगभग 5 नियम तोड़ने के लिए 23 हज़ार का चालान बना कर गाडी को भी सीज कर दिया| मदान ने बताया कि मेरी गाडी को सीज कर पुलिसकर्मियों ने कहा कि इसे अब कोर्ट से छोड़वाना होगा जिसके लिए पहले एक केस बनेगा और गाड़ी छुड़वाने के लिए जमानत भी देनी होगी| हांलाकि मदान ने बताया कि वे गाड़ी को नहीं छुडवायेंगे|

बता दें कि 1 सितम्बर से यह नए कानून देश में लागू हो गए हैं इसे पहले से और कड़ा कर दिया है इसी के साथ नए कानूनों में पहले से 10 गुना बढ़ोतरी भी की गयी है| हांलाकि आपको बता दें की कुछ राज्यों में सॉफ्टवेयर में अपडेट की वजह से यह अभी लागू नहीं हुए हैं पर देश के ज्यादातर राज्यों में इन्हे लागू कर दिया गया है और बाकियों में बहुत जल्द होने वाले हैं|

देश में लागू हुए नए कानूनों के तहत प्रस्तावित जुर्माना राशि 177 सामान्य 100 रुपये 500 रुपये नया 177ए सड़क विनियमन उल्लंघन के नियम 100 रुपये 500 रुपये 178 बिना टिकट सफर 200 रुपये 500 रुपये 179 अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना 500 रुपये 2000 रुपये 180 बिना लाइसेंस के वाहनों का अनाधिकृत उपयोग 1000 रुपये 5000 रुपये 181 बिना लाइसेंस के वाहन चलाना 500 रुपये 5000 रुपये 182 अयोग्यता के बावजूद ड्राइविंग 500 रुपये 10,000 रुपये

182 बी ओवरसाइज वाहन नया 5000 रुपये 183 ओवर स्पीडिंग 400 रुपये एलएमवी के लिए 1000 रुपये, मध्यम श्रेणी के यात्री वाहन के लिए 2000 रुपये। 184 खतरनाक ड्राइविंग 1000 रुपये 5000 रुपये तक 185 नशे में ड्राइविंग 2000 रुपये 10000 रुपये 189 स्पीडिंग-रेसिंग 500 रुपये 5,000 रुपये 192 ए बिना परमिट का वाहन 5000 रुपये तक 10 000 रुपये तक

193 एग्रीगेटर्स (लाइसेंस शर्तों का उल्लंघन) टैक्सी वालों के लिए नया 25,000 रुपये से1,00,000 रुपये तक 194 ओवरलोडिंग 2000 रुपये और प्रति टन 1000 रुपये अतिरिक्त 20,000 रुपये और प्रति टन 2000 रुपये अतिरिक्त 194 ए यात्रियों की ओवरलोडिंग 1000 रुपये प्रति यात्री 194 बी सीट बेल्ट 100 रुपये 1000 रुपये 194 सी दो पहिया वाहनों पर क्षमता से ज्यादा वजन 100 रुपये 2000 रुपये तीन माह के लिए लाइसेंस सस्पेंड

194 डी हेलमेट 100 रुपये 1000 रुपये और 3 महीने के लिए लाइसेंस सस्पेंड 194 ई इमरजेंसी वाहनों जैसे एंबुलेंस और फायरब्रिगेड को रास्ता न देना नया प्रावधान 10,000 रुपये 196 बिना इंश्योरेंस के ड्राइविंग 1000 रुपये 2000 रुपये 199 नाबालिगों द्वारा ड्राइविंग नया प्रावधान पेरेंट्स, वाहन के मालिक को दोषी ठहराया जाएगा। साथ ही 25 हजार रुपये जुर्माने के साथ 3 साल की कैद।

इसी के साथ नाबालिग पर जस्टिस जुवेनाइल एक्ट में मामला दर्ज होगा और मोटर व्हीकल का रजिस्ट्रेशन कैंसल होगा। 206 अधिकारियों के पास दस्तावेज जमा कराने का अधिकार नया प्रावधान अंडर सेक्शन 183 184 185 189 190 194C 194D 194E के तहत ड्राइविंग लाइसेंस का निलंबन 210 बी कानून का पालन कराने वाली अथॉरिटी के कर्मचारी या अधिकारी द्वारा यातायात नियमों का उल्लंघन नया प्रावधान संबंधित धारा के उल्लंघन का दोगुना जुर्माना वसूला जाएगा।