दुनिया भर के 30 से ज़्यादा देशों की फिलिस्तीन के समर्थन में विश्व क़ुद्स दिवस की रैलियां…

दुनिया के तीस से भी अधिक देशों ने फ़िलिस्तीनियों की आकांक्षाओं के समर्थन और ज़ायोनी अत्या’चारों के खिलाफ आज विश्व क़ुद्स दिवस मनाया. इस दौरान एक सामूहिक रैलियां भी निकाली जा रही हैं. फ़िलिस्तीन अलयौम वेबसाइट के मुताबिक शुक्रवार 31 मई को ईरान, इराक़, इन्डोनेशिया, मलेशिया, पाकिस्तान, भारत, बांग्लादेश, अमरीका के कुछ बड़े देश भी शामिल हुए.

इसके आलावा आस्ट्रेलिया, 8 यूरोपीय देशों तथा अफ्रीका के 11 देशों सहित बहुत से स्थानों पर विश्व क़ुद्स दिवस पर रैलियों का आयोजन किया गया है. वहीं इसी मौके पर हजारों की तादात में फ़िलिस्तीनी मुसलमानों के पहले क़िब्ले बैतुल मुक़द्दस जाने की कोशिश की.

Image Source: Google

लेकिन जहां पर ज़ायोनी शासन ने फ़िलिस्तीनियों को वहां पर जाने से रोक दिया और इसके लिए सुरक्षा के बहुत कड़े और अभूतपूर्व प्रबंध किये गए थे. आपको बता दें कि फ़िलिस्तीनियों से एकजुटता के उद्देश्य से विश्व क़ुद्स दिवस की शुरुआत की गई थी.

इस्लामी गणतंत्र ईरान के संस्थापक स्वर्गीय इमाम ख़ुमैनी ने पवित्र रमज़ान के अंतिम शुक्रवार यानि की अलविदा जुमे को विश्व क़ुद्स दिवस के रूप में घोषित किया था इसके बाद से ही हर साल इस दिन पूरे दुनिया में फ़िलिस्तीनियों के समर्थन में कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं.

Image Source: Google

आपको बता दें कि इससे पहले ईरान के एक नेता ने कहा कि इस बार का विश्व क़ुद्स दिवस पिछले वर्षों की तुलना में बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा कि अमेरिकी की डील आफ द सेंचुरी को लागू कराने की दृष्टि इस बार के विश्व क़ुद्स दिवस का महत्व बहुत बढ़ जाता है.

वहीं पार्स टुडे डॉट कॉम के मुताबिक वरिष्ठ नेता ने कहा कि डील आफ द सेंचुरी के द्वारा फ़िलिस्तीन के विषय को सदा के लिए खत्म करने की कोशिश हो रही हैं. इसीलिए विश्व क़ुद्स दिवस का महत्व बहुत अधिक है क्योंकि यह फ़िलिस्तीनियों के अधिकारों की रक्षा का दिन है.