हैदराबाद ए’नकाउं’टर: मा’रे गए आरो’पियों के परिजनों ने ए’नकाउं’टर पर उठाए सवाल कहा,- अगर ऐसा ही करना था तो…

हैदराबाद: वेटनरी महिला डॉक्टर से दु’ष्क’र्म के आरो’पियों के ए’नकाउं’टर पर जहां एक तब’का ताली बजा रहा है, तो वहीं दूसरा तब’का इसको गलत बता रहा है। सोशल मीडिया से लेकर अखबारों तक, हर कोई इसी मुद्दे को लेकर बह’स कर रहा है। इन्हीं बहसों के बीच अब सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस अरविंद बोवड़े का बड़ा बयान सामने आया है. जोधपुर में एक कार्यक्रम में पहुंचे चीफ जस्टिस ने कहा कि न्याय कभी भी आनन-फानन में नहीं किये जाते अगर न्याय बदले की भावना से किया जाए तो अपना मूल चरित्र खो देता है।

आपको बता दें हैदराबाद ए’नकाउं’टर को लेकर आमलोगों के साथ ही राजनेता, मीडिया और संविधान विशेषज्ञों की भी इस मामले को लेकर अलग-अलग राय दे रहे है। वहीं, इस बीच मा’रे गए आरो’पियों के परिजनों की भी प्रतिक्रिया आ गई है। आरो’पियों के परिजनों ने कोर्ट में मुकदमा चलाए जाने से पहले ही पुलिस द्वारा उनका ए’नकाउं’टर कर मा’र गि’राने पर सवाल उठाए हैं।

हैदराबाद ए’नकाउं’टर पर उठाए सवाल, सवालों के घेरे में पुलिस कार्रवाई

बता दें शुक्रवार सुबह पुलिस मु’ठभे’ड़ में आरो’पियों के मा’रे जाने की खबर जैसे ही तेलांगना के नारायणपेट जिले में रहने वाले उनके परिजनों तक पहुंची तो वे सुनकर दं’ग रह गए। वही चारो आरो’पियों के परिजनों का कहना है कि अगर ट्रायल के बाद कोर्ट उन्हें सजा देती तो उन्हें जरा भी दुख नहीं होता।

इसी बीच वारदात के मुख्य आरो’पी बताये जा रहे मोहम्मद पाशा के घर जब मीडियाकर्मी पहुंचे तो उसकी मां फफक-फफक कर रोने लगी। मु’ठभे’ड़ में मा’रे गए आरोपी की मां ने कहा, मैंने अपने बेटे को खो दिया। अब आप लोग मुझसे क्या पूछने आये हो? वहीं, पाशा के पिता मोहम्मद हुसैन अपने अन्य रिश्तेदारो के साथ पाशा का श’व लेने के लिए शादनगर के लिए रवाना हो गए हैं।

वहीं दूसरे आरो’पी चिताकुंटा चेन्नकेशवुलु की गर्भवती पत्नी रेणुका ने कहा की अब पुलिस उसे भी मा’र डाले। रेणुका ने कहा, जब मेरा पति ही नहीं रहा तो में जि’न्दा रहकर क्या करुँगी मैं अपने पति के बिना नहीं रह सकती। मुझे भी मा’र डालो।

बता दें वारदात के तीसरे आरो’पी जोलु शिवा के पिता रजप्पा इस बात से आश्च’र्यचकित हैं कि पुलिस ने अन्य आरो’पियों को ऐसी सजा क्यों नहीं दी। उन्होंने पूछा, सिर्फ मेरे बेटे और बाकी तीनों की जा’न क्यों ली गई?

वहीं चौथे आरोपी छोलु नवीन के पिता ने भी पुलिस पर आ’रोप लगाया कि पुलिस ने उन्हें अपने बेटे से मिलने नहीं दिया। उन्होंने कहा, पुलिस को हमें उससे मिलने देना चाहिए था, बात करने देना चाहिए था। पुलिस के पास उसे और अन्य आरो’पियों को कोर्ट के सामने पेश करने का और उन्हें दो’षी साबि’त करने का पूरा समय था।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.