अमरीका के खिलाफ फिलिस्तीनियों ने अंतरराष्ट्रीय अ’पराध न्यायलय में की शिकायत

फिलिस्तीन और इजरायल के बीच चल रहे तनाव को अमेरिका की दखलंदाजी ने और बढाया है. अमेरिका ने समय-समय पर इस विवाद में आग में घी डालने वाला काम किया हैं. पिछले दिनों जब इजरायल ने बैतुल मुक़द्दस यानि जेरूसलम को अपनी राजधानी घोषित किया. तब सभी देशों ने इसका विरोध किया लेकिन इसके बाद भी अमेरिका ने खुलेआम इसका सर्मथन किया था.

इसके बाद से ही अमेरिका और फिलिस्तीन के संबंध बहुत ही बुरे चल रहे है. इसी बीच बुधवार की रात फ़िलिस्तीन के विदेश मंत्री ने बताया कि फिलिस्तीन ने हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायलय में अपना दूतावास बैतुल मुक़द्दस स्थानांतरित करने के चलते अमरीका के खिलफ शिकायत दर्ज करायी है.

Image Source: Google

विदेश मंत्री रियाज़ मालेकी ने बताया है कि आईसीसी ने फिलिस्तीन को 15 मई तक शिकायत कोर्ट के सामने दर्ज कराने का समय दिया था.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अमरीका के खिलाफ फिलिस्तीन ने यह मुक़द्दमा वियना कन्वेंशन के आधार पर दर्ज कराया है. आपको बता दें कि इस अंतरराष्ट्रीय समझौते के मुताबिक किसी भी देश के दूतावास को मेज़बार सरकार के अधिपत्य वाले क्षेत्र में होना आवश्यक है.

रियाज़ मालेकी ने फिलिस्तीनियों की पहचान मिटाने का प्रयास करने और उनके अधिकारों के हनन की कोशिशों का उल्लेख करते हुए कहा है कि इजरायल के खिलाफ फिलिस्तीनियों का संघर्ष उनके अधिकारों की वापसी में प्रभावी सिद्ध हो रहा है.

Image Source: Google

आपको बता दें कि अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सभी अंतरराष्ट्रीय नियमों का खुलेआम उल्लंघन करते हुए 6 दिसंबर 2017 को घोषणा की थी. जिसके मुताबिक अमरीका ने बैतुल मुक़द्दस यानि जेरूसलम को इजरायल की अधिकारिक राजधानी मान लिया हैं.

इसके बाद अमरीका ने 14 मई 2018 को अपना दूतावास तेलअबीब से जेरूसलम में स्थानांतरित कर लिया. बता दें कि बैतुल मुक़द्दस पर इजरायल के कब्जे को संयुक्त राष्ट्र संघ अवैध अधिकृत मानता है. वहीं इस दौरान हिं’सा भी हुई थी जिसमें इजरायल सुरक्षा बलों ने सैकड़ों फिलिस्तीनी मुस्लिमों को मौ’त के घाट उतर दिया था.