VIDEO: ह’थियार छीने, फायरिं’ग की, हैदराबाद ए’नकाउं’टर की पूरी कहानी, पुलिस कमिश्नर की जुबानी

हैदराबाद: महिला वेटरनरी डॉक्टर के साथ है’वा नि’यत करने वाले चारों आरोपि’यों को पुलिस एन’काउंट’र में ढे’र कर दिया गया है। भले ही इस ए’नकाउं’टर की देशभर में तारीफ की जा रही है। लेकिन अब हैदराबाद पुलिस पर भी सवाल उठ रहे हैं। बता दें, हैदराबाद पुलिस शुक्रवार सुबह चारों आरो’पियों को लेकर घट’ना स्थल पर पहुंची थी। जहाँ पुलिस आरोपि’यों की नि’शानदेही पर वेटेरनरी डॉक्टर का फोन बरामद करना चाहती थी, जिसे आरोपि’यों ने घट’ना स्थल के पास ही झाड़ि’यों में छिपा’या था।

अब इस मामले में साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वी. सज्जनार (VC Sajjanar) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूरी घट’ना की जानकारी दी है, उन्होंने बताया की 27-28 नवंबर को आरोपियों ने वेटेरनरी डॉक्टर की दु’ष्क’र्म के बाद ह#त्या कर दी थी और उसके श’व को ज’ला दिया था हमने आरोपि’यों के खिला’फ सबूत इक’ट्ठे किए और बाद में उन्हें गिरफ्तार किया।

प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें

साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वी. सज्जनार के मुताबिक, हमें दस दिन के लिए पुलिस कस्टडी मिली। रिमांड के चौथे दिन हम उन्हें बाहर लेकर आए, उन्होंने हमें सबूत दिए. आज हम उन्हें आगे के सबूत इक’ट्ठा करने के लिए लेकर आए थे, लेकिन उन्होंने पुलिस पर हम’ला बोल दिया।

पुलिस के मुताबिक अचानक से आरोपियों ने जवानो से ह’थि’यार छी’ने और सबसे पहले एक आरोपी आरिफ ने पुलिस टीम पर हम’ला किया। जिसके बाद अन्य आरोपि’यों ने भी ऐसा ही करने की कोशिश की पुलिस ने पहले आरोपि’यों को चेताव’नी दी, जिसके बाद गो’ली चलाई गई. सुबह करीब 5:40 से लेकर सवा बजे के बीच ए’नकाउं’टर हुआ।

कमिश्नर के मुताबिक पुलिस को आरोपि’यों पर फा’यरिं’ग करनी पड़ी और चारों आरोपियों की गो’ली लगने से मौ#त हो गई। और इस दौरान एक SI और एक कॉन्स्टेबल भी घा’यल हुए हैं। जिन्हे अस्पताल में भर्ती किया गया है।

एन’काउंट’र की जगह लोगो का हुजू’म, पुलिस पर बरसे फूल

 

आपको बता दें वेटेरनरी डॉक्टर की झुल’सी हुई बॉ’डी हैदराबाद और बेंगलुरु के राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक पुलिया के नी’चे 28 नवंबर को मिली थी, जो उस टोल प्लाजा से करीब 25 किलोमीटर की दूर है, जहां वह आखिरी बार देखी गई थी।

महिला डॉक्टर 27 नवंबर की शाम शमशाबाद टोल गेट पर आई और उसने वहां अपनी स्कूटी खड़ी की, तभी न’शा करने वाले चारों आरोपि’यों ने डॉक्टर को देखा उन्होंने उसी वक्त डॉक्टर से दु’ष्क’र्म करने का फैसला किया. तभी उन्होंने महिला डॉक्टर की स्कूटी का टायर पंक्चर करने और फिर मदद का दिखा’वा करने की साजि’श रची।