VIDEO: पुलवामा ह’मले से पहले आदिल अहमद डार ने रिकॉर्ड किया था वीडियो बोला जन्नत जाऊंगा

जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतं$की हमले में 40 से अधिक सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए. एक विस्फोटक से भरे एक वाहन ने सीआरपीएफ की बस को टक्कर मार दी थी. इस हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद नाम के एक चरमपंथी संगठन द्वारा ली गई है. पुलिस ने आ$त्मघाती हमला करने वाले वाहन के चालक आतं$की की पहचान जिले के ही काकापोरा में रहने वाले युवक आदिल अहमद के तौर पर की है. खबरों के अनुसार आदिल 2018 में ही आ$तंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हुआ था.

घटना पर मौजूद एक अधिकारी के अनुसार आदिल आत्मघाती वाहन को चला रहा था और इसमें 100 किलो विस्फोट रखा हुआ था. आदिल घटना स्थल से 10 किमी की दुरी पर ही गुंडीबाग के डार में रहता है. पुलिस सूत्रों के अनुसार पिछले साल 200 युवक आतं$की संगठन में शामिल हुए थे.

आदिल ने हमले से पहले एक वीडियो रिकॉर्ड किया था और इसे हमले के 10 मिनट बाद ही जारी कर दिया गया था. जब आप वीडियो देखगें तो आदिल कह रहा है कि मैं जन्नत में रहूंगा. कश्मीरियों में तुम्हें सलाम करता हूं लाखों ला$शें देख कर भी तुम लोगों का दिल नहीं पिघलता है.

वीडियो में वह बताता है कि उसने पिछले साल ही जैश-फिदायीन को ज्वाइन किया था अब वह अपना वादा पूरा करने जा रहा है. वह कहता है कि मुझे गर्व है मैं इस्लाम धर्म का सच्चा प्रचारक हूं और मुझे पता है कि मेरा नाम इतिहास में सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा.

आदिल ने बताया कि मैं जैश-ए-मोहम्मद की फिदायीन दुकड़ी में एक खास उद्देश्य के साथ शामिल हुआ था और आज वह खास पल आ गया है. वह कहता है कि जल्द ही अयोध्या और बाबरी मस्जिद में अल्लाह-हू-अकबर की आवाज गूंजेगी. इसके बाद वीडियो के अंत में वह बताता है कि पुलवामा आईईडी हमला तो एक शुरुआत मात्र है.

पुलिस से जुड़े सूत्रों के अनुसार आदिल जब जैश में शमिल हुआ था उस समय वह 10वीं कक्षा का छात्र था. उस समय वह एक मिल में भी काम करता था. मार्च 2018 में उसने अपना घर छोड़ा और इसी दिन से उसका एक दोस्त समीर अहमद भी लापता था इसके बाद यह वापस कभी नहीं आए.

आदिल के घर से जाने के बाद उसके परिवार ने स्थानीय पुलिस में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. इसके बाद पुलिस उसे ढूंढ पाती उससे पहले ही आदिल की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर सामने आई. इस तस्वीर में वह AK-47 लहराते हुए नजर आया था. आदिल जिस गाड़ी को चला रहा था उसमें 350 किलो से ज्यादा विस्फोट$क था जिससे इस हमले को अंजाम दिया गया.