कोरोना- पैगंबर मुहम्मद साहब की सदियों पुरानी सलाह वाला होर्डिंग दुनिया भर में हुआ वायरल

 

कोरोना वायरस एक न दिखने वाले इस वायरस की ताकत इतनी बड़ी है की आज, दुनिया भर के 200 से भी ज्यादा देश इसकी चपेट में आ चुके है. दुनिया भर के देश इस नए उभरे हुए वायरस से लड़ने के तरीके खोज रहे हैं. लेकिन जैसा कि आंकड़े बताते हैं, यह वायरस अपने पूर्वजों की तुलना में काफी अधिक घातक है, क्योकि यह तेजी से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में संचारित हो रहा है।

इस वैश्विक संकट में, हमें, मुसलमानों के रूप में खुद से पूछना चाहिए कि इस स्थिति में हमारी जिम्मेदारी क्या है. इस्लाम हमें क्या करने को कहता है? क्या हम बैठकर देखेंगे और इस आणविक आकार की चीज़ को हमें हराने देंगे और हमारे समाज को बर्बाद कर देंगे? बिलकूल नही। हमेशा की तरह, इस्लाम हमें धैर्य रखने, कार्रवाई करने और हर कठिनाई में सन्निहित सबक को खोजने की सलाह देता है, जैसा कि कुरान कहता है।

वही आज कोरोना महा’मा’री से निपटने के लिए पैगंबर मुहम्मद (PBUH) की कई सदियों पुरानी सलाह पर चलने वाला एक होर्डिंग सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. दरअसल यह होडिंग अमेरिका के शिकागो में लगाया गया है. जो की सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

आपको बता दें गैर-लाभकारी संगठन गेन पीस ने कोरोनो वायरस से लड़ने के तरीके के बारे में लोगों को मार्गदर्शन करने के लिए पैगंबर मुहम्मद की सलाह वाला एक होर्डिंग लगा रखा है. इस होर्डिंग में (PBUH) के ऐतिहासिक हदीसों को दर्शाया गया है. होर्डिंग में लिखा है बार बार अपने हाथ धोएं, सं’क्रमि’त क्षेत्रों का दौरा न करें। वही यह होडिंग दिशानिर्देश सफाई के महत्व पर भी जोर देता हैं।

पैगंबर ने कहा था, अगर आप किसी भूमि में प्लेग का प्रकोप सुनते हैं, तो उसमें प्रवेश न करें, लेकिन अगर आप उस जगह पर हैं, तो प्लेग का प्रकोप बढ़ जाता है, तो उस जगह को न छोड़ें। इस महा’मा’री में एहतियात को देखते हुये अंतर्राष्ट्रीय मीडिया हाउसों ने भी पैगंबर मोहम्मद (PBUH) के शिक्षण पर प्रकाश डाला।

वही स्पेनिश अखबार एबीसी द्वारा प्रकाशित एक लेख में, लेखक ने लिखा है कि पैगंबर मुहम्मद साहब जानते थे कि एक महा’मा’री के दौरान क्या किया जाना चाहिए। वहीं अमेरिकी पत्रिका न्यूजवीक ने भी सैकड़ों साल पहले पैगंबर द्वारा बताये गए एहतियात पर रौशनी डाली है।

जिसमे उन्होंने कहा कि- पैगंबर ने कहा था, यदि आप किसी भूमि में प्लेग का प्रकोप सुनते हैं, तो उसमें प्रवेश न करें; लेकिन अगर आप उस जगह पर हैं, तो प्लेग का प्रकोप बढ़ जाता है, तो उस जगह को न छोड़ें।

Leave a comment