गणेश चतुर्थी के जश्न पर हैदराबाद पुलिस ने लगाईं इस चीज़ पर पावं’दी, भड़’के लोग कहा- तो क्या अब…

हैदराबाद पुलिस द्वारा गणेश चतुर्थी से पहले एक नया फरमान जारी किया है। जिसमे हिन्दू धर्म में धूमधाम से मनाए जाने वाले गणेश चतुर्थी के इस त्योहार से पहले प्रशासन ने पब्लिक प्लेस यानी सार्वजनिक स्थानों पर पटा’खे फोड़’ने पर प्रतिबं’ध लगा दिया है पुलिस की इस पावं’दी पर सोशल मीडिया यूज़र्स अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक़ यह पता चला है कि पुलिस कमिश्नर अंजनी कुमार ने 2 सितंबर से 12 सितंबर तक सड़कों और सार्वजनिक स्थानों पर ‘आतिशबा’जी करने पर बैन लगा दिया गया है।

गणेशोत्सव का माहोल सितंबर महीने के पहले हफ्ते से ही देखने को मिलने वाला है। लेकिन पुलिस प्रशासन के इस फैसले ने शहर के लोगों को मायूस कर दिया है सोशल मीडिया के कई सारे यूज़र्स सिटी पुलिस के खिलाफ अपना गुस्सा व्यक्त कर रहे हैं जिनमे से कई लोगों ने पुलिस पर एक विशेष समुदाय पर ऐसी भावना रखने का आरोप भी लगया है।

Image Source: Google

वही एक ट्विटर यूजर सिन्हा ने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए एक ट्वीट किया जिसमे कहा आप क्रिसमस नए साल और शब ए बारात पर पटा’खे फो’ड़ सकते हैं लेकिन हिन्दू त्योहारों के दौरान नहीं। धर्म’निरपेक्ष’ता चोटी पर पहुंच गई है। तापन लिखते हैं मगर उन्हीं सार्वजनिक स्थानों पर नमाज पढ़ना कानूनी है। हैदराबाद पुलिस की सराहना करता हूं। यह भारत है या पाकिस्तान?

आदर्श नाम के एक ट्विटर यूजर ने अपना गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि क्या उन्होंने सड़क पर नमाज पढ़ने पर प्रतिबंध लगाया? हैदराबाद पुलिस के लिए शर्म की बात है। सुजीत सिंह लिखते हैं सार्वजनिक स्थानों पर अजान पर भी प्रतिबंध लगे। छौरे मारवाड़ी नाम के यूजर ने लिखा, तो क्या अब पटा’खे घर के अंदर जलाएं?

वही अरुण दाधीच लिखते हैं अमित शाह जी मुसलमान बकरीद के दिन सड़कों पर सरेआम जानवरों को काट सकते, पर हिंदू अपने त्यौहारों पर पटा’खे भी नहीं फोड़ सकते। ऐसा सेकुलरिज्म हमें मान्य नहीं है। हैदराबाद पुलिस ओवैसी के नीचे काम करती है क्या?