VIDEO: मैं मिस्टर मोदी के कंट्रोल वाले ऑर्केस्ट्रा में नहीं हूं, जो उनका दिया गाना गाउंगा: असदुद्दीन ओवैसी

हैदराबाद: अयोध्या राम मंदिर और बाबरी मस्जिद के वर्षो पुराने मामले में शनिवार, 9 नवंबर 2019 को सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की पीठ ने फैसला सुनाते हुए कोर्ट ने वि’वादित जमीन हिन्दू पक्ष को दी गई और वही मुस्लि’म पक्ष को मस्जिद के लिए अयोध्या में पांच एकड़ जमीन देने का केंद्र सरकार को निर्देश दिया है. जिसको लेकर एक बार फिर  AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कोर्ट के फैसले पर नाराजगी जाहिर की है।

पिछले हफ्ते अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था की मस्जिद की जमीन का कोई सौदा नहीं किया जा सकता। ओवैसी ने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट से भी चूक हो सकती है। ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा- की सुप्रीम कोर्ट सुप्रीम जरूर है, लेकिन ऐसा नहीं कि उससे कोई चूक नहीं हो सकती।

 

वही इस फैसले को लेकर एक बार फिर ओवैसी ने कहा की उन्हें मुझे मेरी मस्जिद वापस चाहिए। दरअसल शुक्रवार को एक ट्वीट करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने लिखा I want my masjid back (मुझे मेरी सस्जिद वापस चाहिए)। ओवैसी ने अपने ट्वीट संदेश में एक समाचार मैगजीन को दिए इंटरव्यू का लिंक भी शेयर किया है, इंटरव्यू की हेडलाइन में ओवैसी का बयान लिखा हुआ था ‘मैं हर उस चीज का विरोध करूंगा जो भारत के संविधान और भारत की विभिन्नता के विरुद्ध होगी।

ओवैसी यहीं नहीं रूके, मीडिया को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, ‘मैं मिस्टर मोदी के कंट्रोल वाले ऑर्केस्ट्रा में नहीं हूं, जो उनका दिया गाना गाउंगा। बता दें जिस दिन सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया था, उसी दिन ओवैसी ने विरोध करते हुए कहा था, हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं लेकिन इससे खुश नहीं हैं।

इसके साथ ही उन्होंने सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से उस समय दिए गए फैसले के खिला’फ अपील करने के बयान का भी समर्थन किया था। हालांकि बाद में बोर्ड ने कोर्ट के फैसले के खिला’फ अपील करने से इनकार कर दिया।

वही फैसले के दिन ओवैसी ने सवाल किया था कि यदि बाबरी मस्जिद नहीं गिरी होती तब भी क्या सुप्रीम कोर्ट यही फैसला करता? इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा था, मुस्लिम गरीबी और पिछड़ेपन के शिकार हैं, लेकिन इतने भी नहीं की मस्जिद बनाने के लिए जमीन न जुटा सके। हमें पांच एकड़ जमीन की खैरात नहीं चाहिए।