क़तर में एक भारतीय ने सोने से लिखा पूरा क़ुरआन, क़तर सरकार ने खुश होकर दिया ये शानदार तोहफा

क़तर में एक भारत प्रवासी ने दुनिया भर में भारत का नाम रोशन कर दिया है| इस भारतीय व्यक्ति ने महंगे क्रिस्टल और शुद्ध सोने का इस्तिमाल कर क़ुरआन लिखने की अपनी इक्षा को पूरा करने के लिए परियोजना बनाली है| साथ ही उसने अपना काम शुरू कर आधे मुकाम तक भी पहुँच गया है| यह दुनिया में किया जाने वाला सबसे पहला प्रयास है क्यूंकि आज से पहले ना तो किसी ने ऐसा सोचा और ना ही किया है|

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ क़ुरआन के एक फैशन डिज़ाइनर से कैलिग्राफर बने मुहम्मद सुलतान शैख़ को फ्रांस में एक प्रतिष्ठान अंतराष्ट्रीय फैशन डिज़ाइनिंग कंपनी की तरफ से प्रस्ताव मिला जब वह बॉलीवुड की सबसे लोकप्रिय हस्तियों के चहरे की छबि को दर्शाते हुए 28 अद्वितीय कपडे डिज़ाइन करने को लेकर प्रसिद्ध हो गए|

बता दें कि शेख ने इसके बाद कुरआन शरीफ की आयतों वाले फ्रेमों को डिज़ाइन करने में अपनी कला का इस्तिमाल करने का फैसला किया| हाई स्कूल स्नातक सुलेखक ने अरबी भाषा सीखी ताकि वह कुरआन को ठीक से लिख सकें|

शेख ने बताया कि मैंने 2006 में कुरआन के आयतों वाली फ्रेम को डिज़ाइन करना शुरू किया और 4 साल में 46 खूबसूरत बड़े आकार वाली फ्रेम डिज़ाइन किये जो क़तर के एक शॉपिंग मॉल के शोकेस में रखे गए थे|

इसी के साथ उन्होंने बताया कि फ्रेम को लोगों द्वारा जबरजस्त पसंद किया गया, जिसने उन्हें अपने जुनून के साथ जारी रखने के लिए प्रोत्साहित किया| एक प्रसिद्ध भारतीय सुलेखक द्वारा हाथ से लिखे गए पवित्र कुरआन पर एक अखबार ने जबरजस्त प्रतिक्रिया दी|

बता दें कि अखबार ने हाथ से लिखे गए कुरआन के लेख ने भारतीय फैशन मास्टर को अपनी जीवन परियोजना शुरू करने के लिए और प्रभावित किया है| इसी के साथ उन्होंने बताया कि मैंने शुद्ध सोने और क्रिस्टल से बने एक अद्वितीय सुन्दर डिज़ाइन में कुरआन लिखने के लिए 2010 में काम शुरू किया था|

अपनी इसी महत्वकाँक्षी परियोजना के चलती मेरी सबसे पहेली चुनौती उपयुक्त कागज़ात खोजने की थी जिस पर में इस प्रकार के अनुभव का काम करने के लिये इस्तिमाल कर सकूँ|