VIDEO: लाइव डिबेट में मुस्लि’म पैनलिस्ट ने संबित पात्रा से लगवाए गोडसे मुर्दाबाद के नारे, वीडियो वायरल

चुनाव के करीब आते ही बीजेपी नेता और कार्यकर्ता सांप्र’दायि’क भा’वनाओं को भ’ड़काने में जी-जा’न से जुट जाते हैं। चुनावी रैलियों से लेकर टीवी स्टूडियो तक वोटों का ध्रु’वीकरण करने के लिए हिन्दू-मुसलमा’न का खेल खेलने लगते है। इसी को लेकर अपने विवा’दित बयानों को लेकर अकसर चर्चा में रहने वाले बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने ‘गोडसे मुर्दाबाद’ के नारे लगाने लगे।

दरअसल, कांग्रेस सेवा दल द्वारा एक पुस्तिका वितरित किए जाने के बाद बीजेपी विपक्ष पर लगातार सवाल उठा रही है। इस पुस्तक में सावरकर को स’मलैं’गिं’ग करार दिया गया है। यही नहीं इस पुस्तिका में कहा गया है कि सावरकर और महात्मा गांधी के ह#त्यारे नाथूराम गोडसे के बीच संबंध थे। बहरहाल पुस्तिका में किए गए दावे पर एक बार फिर गोडसे और सावरकर चर्चा के केंद्र में हैं।

एक लाइव डिबेट शो में चर्चा के दौरान सावरकर को लेकर बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा और मुस्लि’म पैनलिस्टों के बीच जमकर बहस होने लगी। इस दौरान पैनलिस्टों ने संबित पात्रा पर एक साथ जुबानी हम’ले किए तो संबित पात्रा ‘गोडसे मु’र्दाबाद’ के नारे लगाने लगे। तो शो में बैठे कई युवक ने कहा कि गोडसे मु’र्दाबाद हैं तो सावरकर भी मु’र्दाबाद हैं।

बता दें न्यूज़ 18 के वरिस्ट पत्रकार अमिश देवगन ने युवक को टोकते हुए कहा कि गोडसे आ#तंवा’दी था और है और इस बात को पूरा देश मानता है लेकिन सावरकर वीर थे इसलिए ‘सावरकर मु’र्दाबाद’ के नारे लगाना सही है क्या। इस दौरन स्टूडियो में मौजूद सभी लोग गोडसे मु’र्दाबाद के नारे लगाने लगे।

 

इस दौरन मुस्लि’म पैनलिस्टों ने कहा कि अगर संबित पात्रा में हिम्मत हैं तो वह ‘गोडसे मु’र्दाबाद’ के नारे लगाएं। पैनलिस्ट उन्हें लगातार ‘गोडसे मु’र्दाबाद’ कहने के लिए उकसाते रहे। वही एक पैनलिस्ट ने कहा कि पात्रा को शर्म आनी चाहिए कि वे महात्मा गांधी के ह#त्यारे के लिए मु’र्दाबाद का नारा नहीं लगा सकते।