इरफान पठान सहित अन्य सौ खिलाड़ियों को तत्काल घाटी छोड़ने के आदेश

कश्मीर: जम्मू एंड कश्मीर में वर्तमान हालात को देखते हुए अमरनाथ यात्रियों के लिए एडवाइजरी जारी होने के बाद अब भारत के ऑलराउंडर खिलाड़ी इरफान पठान और जम्मू कश्मीर क्रिकेट टीम के अन्य सहयोगी स्टाफ से अनुरोध किया गया है कि भारत सरकार द्वारा जारी सुरक्षा निर्देशों के मद्देनजर वे सभी जल्द से जल्द से घाटी छोड़ने का निर्देश दिया गया है।

बता दें कि इरफान पठान के अलावा कोच मिलाप मेवाड़ा और ट्रेन सुदर्शन वीपी सहित प्रदेश टीम के चयनकर्ता हैं, जो कश्मीर से नहीं हैं आपको बता दें कि इरफान पठान पिछले करीब दो सत्र से जम्मू कश्मीर टीम के मार्गदर्शक और खिलाड़ी के रूप में सेवाएं दे रहे हैं सुदर्शन भारतीय टीम पूर्व फिटनेस ट्रेनर हैं जबकि मेवाड़ा बड़ौदा के पूर्व क्रिकेटर रह चुके हैं।

Image Source: Google

उन्हें रविवार को शहर से चले जाने को कहा गया है। इसी के साथ जेकेसीए ने सभी उम्र और ग्रुप से जम्मू के क्रिकेटर्स को वापस उनके घर भेज दिया है, जो श्रीनगर के शेर ए कश्मीर स्टेडियम में ट्रेनिंग कर रहे थे। आगामी घरेलू क्रिकेट सीजन को मद्देनजर रखते हुए श्रीनगर के शेर ए कश्मीर स्टेडियम में पिछले दो सप्ताह से अंडर16 अंडर19 रणजी सहित अन्य आयु वर्गों की टीम के चयन हेतु सिलेक्शन ट्रॉयल प्रक्रिया जारी थी।

इसमें जम्मू संभाग से 110 के करीब खिलाड़ियों सहित जेकेसीए के मेंटर इरफान पठान कोच मिलाप और अन्य स्पोर्टिंग स्टॉफ मौजूद था। कश्मीर में बने हालात के उपरांत जेकेसीए के चीफ एग्जीक्यूटिव आफिसर सैयद आशिक हुसैन बुखारी ने तुरंत सभी खिलाड़ियों को अपने घरों की ओर लौटने के दिशा निर्देश जारी किए।

उन्होंने बताया कि खिलाड़ियों की जिंदगी वे दांव पर नहीं लगा सकते हैं इसलिए सभी को जल्द से जल्द घरों की ओर लौटने के लिए कहा है। घरेलू क्रिकेट सीजन का आगाज आगामी 17 अगस्त से शुरू होने वाली दिलीप ट्रॉफी से हो रहा है। इसके उपरांत विजय हजारे, सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी सहित रणजी और अन्य घरेलू क्रिकेट श्रृंखला के मुकाबले शुरू होने वाले हैं।

इसमें जम्मू-कश्मीर के बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद लिए शेर ए कश्मीर स्टेडियम में कैंप का आयोजन किया गया था लेकिन अब सभी तैयारियां बीच में ही छोड़नी पड़ रही हैं। जम्मू-कश्मीर को कई घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिताओं की मेजबानी भी मिली है।