इस्लामिक देशों के संगठन ने पाकिस्तान की ना सुनते हुए भारत का करेगा स्वागत

अंतरराष्ट्रीय मंच पर एक बार फिर से पाकिस्तान को करारा झटका लगा है. इस बार पाकिस्तान को यह सबसे बड़ा झटका मुस्लिम देशों के मंच पर लगा है. आर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (OIC) ने पाकिस्तान को दिन में ही तारे दिखा दिए है. आतं$कवाद को पनाह देने के आरोप झेल रहे पाकिस्तान को अब मुस्लिम देश भी अलग थलग करने लगे है और ऐसा ही कुछ ओआईसी के मंच पर भी देखने को मिला. OIC की अबु धाबी में आयोजित हुई विदेश मंत्रियों की बैठक में भारत को मुख्य अतिथि के तौर पर न्‍योता भेजा गया था.

इसी बीच पुलवामा में ह’मला हो गया था जिसके बाद पाकिस्तान ने साफ कह दिया था कि अगर भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इस बैठक में आमंत्रित की जाती है तो पाक के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरेशी बैठक में हिस्सा नहीं लेंगे. पाकिस्तान इस मंच का फाउंडिंग मेंबर है लेकिन इसके बाद भी उसकी धमकी का OIC पर कोई असर नहीं पड़ा.

Image Source: Google

सुषमा स्वराज बैठक में हिस्सा लेने के लिए गुरूवार की रात को अबु धाबी के लिए रवाना हो चुकी है और आज वह मुख्य अतिथि के तौर पर बैठक को संबोधित करेंगी. वहीं गुरुवार को पाकिस्तान ने फिर से साफ किया कि वो सुषमा स्वराज के रहते इस बैठक में शामिल नहीं होगा.

शुक्रवार की सुबह जब सुषमा स्वराज पहुंची तो UAE के विदेश मंत्री ने उनका जोरदार स्वागत भी किया. यह पहला मौका है जब OIC की बैठक में कोई गैर इस्लामिक देश के विदेश मंत्री बतौर अतिथि शामिल हो रहा है. वहीं आतंक$वाद के मुद्दे पर पूरी तरह घिरे पाकिस्तान की दुनिया में बदनामी हो रही है.

Image Source: Google

पाकिस्तान को  लगातार सभी देश फटकार रहे है और आ$तंकियों के खिलाफ कार्रवाई करने का दवाब बना रहे है. अमेरिका सहित कई देश पाक से उसकी जमीन पर चल रहे आतं$की अड्डों को खत्म करने की बात कह चुके है. चीन को छोड़ दिया जाए तो दुनिया का और कोई सा देश भी पाकिस्तान के साथ खुलकर खड़ा नजर नहीं आता है.

Image Source: Google

वहीं इस्लामिक देशों के इस मंच की बात करें तो इस्लामी सहयोग संगठन के 57 सदस्य हैं. जिनमें से 56 संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्य हैं. पाक, अफगानिस्तान, बहरीन, बांग्लादेश, ब्रूनेई, मिस्र, गैबॉन, ईरान, इराक, जार्डन, कुवैत जैसे देश इसके सदस्य हैं. लेकिन अब पाक इस मंच पर भी अकेला पड़ गया है.