VIDEO: मदरसे के बच्चों से जबरन लगवाए ‘जय श्रीराम’ के नारे, नहीं लगाने पर बेरह’मी से पी’ट, बजरंग दल पर आरोप

यूपी: उत्तर प्रदेश के उन्नाव में मदरसे के बच्चों को जय श्रीराम के नारे लगाने के लिए मजबूर किया गया मदरसे के बच्चों द्वारा जय श्री राम के नारे नहीं लगाने पर उनकी बेरहमी से पिटाई की गई. इस घटना में कई बच्चे जख्मी हो गए. मदरसे के लोगों का आरोप है कि हमला करने वाले लोग बजरंग दल के है हमलावरों ने कई बच्चों की साइकिल भी तोड़ दी फिलहाल इस मामले में एफआईआर दर्ज कर जांच की जा रही है।

पुलिस ने मदरसे के तीन घायल बच्चों का मेडिकल करवाया है वही फेसबुक प्रोफाइल के जरिए आरोपियों की तलाश की जा रही है. इस मामले से जुड़े कुछ लोगो को हिरासत में लिया गया हैं और उनसे पूछताछ की जा रही है. आपको बता दें इससे पहले असम के बारपेटा जिले में चार उपद्रवियों ने तीन मुस्लि’म युवकों की पिटा’ई कर दी थी और उन्हें जय श्री राम बोलने के लिए मजबूर किया था।

Image Source: Google

उन्नाव के सीओ सिटी उमेश कुमार त्यागी ने बताया कि जामा मस्जिद के मदरसा दारुल उलूम के बच्चों का गुरुवार को हाफ डे हो जाता है. आम तौर पर बच्चे हाफडे के दिन जीआईसी इंटर कॉलेज के ग्राउंड में क्रिकेट खेलने चले जाते हैं. काफी बड़ा ग्राउंड है तो कई और लोग भी वहां खेलने आते हैं। जामा मस्जिद के इमाम ने कहा है कि पुलिस को तीन लोगों की पहचान बता दी गई है।

कुछ समय पहले इसी तरह का मामला यूपी के कानपुर से भी सामने आया था. जहां कानपुर के बर्रा इलाके में एक मुस्लि’म किशोर की कुछ लोगो ने बुरी तरह से पिटाई कर दी थी. किशोर का आरोप था कि उसने टोपी पहन रखी थी और लोग उससे जय श्री राम का नारा लगाने को कह रहे थे।

Image Source: Google

बर्रा के रहने वाला 16 वर्षीय ताज मोहम्मद किदवई नगर स्थित मस्जिद से नमाज पढ़ कर घर लौट रहा था तभी तीन चार अज्ञात बाइक सवार लोगो ने उसे रोक लिया था और उसके टोपी पहने होने पर विरोध किया. बर्रा पुलिस चौकी प्रभारी सतीश कुमार सिंह के अनुसार बाइक सवार युवकों ने ताज को जय श्री राम कहने को कहा था. जब उसने यह कहने से इनकार किया तो उसकी पिटाई कर दी गई।

 

वही झारखंड में 24 वर्षीय तबरेज़ अंसारी को मोटरसाइकिल चोरी के शक एक पोल से बांधा गया था और फिर उसे बुरी तरह से पीटा गया था. इसके साथ ही जबरन उससे जय श्री राम और जय हनुमान के नारे लगवाये गए थे. उसके बेहोश होने के बाद उसे प्रशासन को सौंप दिया गया था, पुलिस हिरासत में चार दिन बाद उसकी मौ’त हो गई थी।

साभार: khabar.ndtv