गुना: जमीअत उलमा-ए-हिन्द के कार्यकर्ताओं द्वारा खाद्य सामग्री का वितरण

मध्य प्रदेश: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि समस्त मध्य प्रदेश वासी कोरोना जैसी आपदा के वक़्त एक दुसरे की मदद करें, एक दुसरे का ध्यान रखे, और स्यंमसेवी संस्थाएं, संगठन लोगों की ज़रुरत के अनुसार कच्ची और पक्की राहत खाद्य सामग्री खुलकर बाँट सकते हैं.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के इस आदेश के बाद, गुना ज़िले के जमीयत उलमा ए हिंद संगठन के कार्यकर्ताओं द्वारा कई लोगों को खाद्य सामग्री का वितरण किया गया है. आज गुना जिले के सभी वर्गों की 101 विधवा तथा गरीब महिलाओं को ये रहत सामग्री बांटी गयी.

jamiat ulma e hind

आपको बता दें कि ये महिलाएं दूसरे लोगों के घरों में काम करती थीं, कोरोना के चलते उन लोगों ने उनको घरों पर काम करवाने से मना कर दिया और ऐसे में उनकी आजीविका चलने के लिए कुछ और नही था, नतीजा पैसों की किल्लत के चलते राशन दाना-पानी की समस्या उत्पन्न हो गयी.

इन महिलाओं के पास गरीबी रेखा के राशन कार्ड भी नहीं थे, ऐसी स्थिति को देखते हुए जमीअत उलमा हिंद के गुना जिले के कार्यकर्ताओं तक जब ये बात पहुंची तो इन्होने ऐसी महिलाओं को चिन्हित कर, उनके लिए कच्ची खाद्य सामग्री, राशन उपलब्ध कराया.

जमीअत उलमा ए हिन्द के कार्यकर्ताओं द्वारा ये नेक काम कर, शहर में सांप्रदायिक सौहार्द की परंपरा को आगे बढ़ाया. हालाँकी शहर में और भी कई सामाजिक संगठन और कार्यकर्ता ज़रूरतमंदों को रहत पहुँचाने में लगे हुए हैं.

गुना शहर क़ाज़ी नूरुल्ला युसुफ़ जाई और जमीअत उलमा ए हिंद के जिला अध्यक्ष अनीस रहमानी से इस बारे में जानकारी ली गयी तो उन्होंने बताया कि हम लोग आने वाले दिनों में भी इसी तरह से और भी खाद्य सामग्री लोगों तक पहुँचाने की योजना बना रहे हैं.

कोरोना महामा’री के चलते इस देश में न जाने कितने लोगों तक, ज़रूरतमंदों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, ऐसे में इस देश के समझदार लोग ज़रूरतमंदों की ज़रुरत मिल बाँट कर पूरी कर रहे हैं, यही है हमारे हिंदुस्तान की असली तस्वीर, वो नही जो आपको बिकाऊ मीडिया दिखाता है.