जनसंख्या के हिसाब से भारत में मुसलमानों की आबादी कितनी है, और कितने मुसलमान है: जानिये

भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है, भारत का संविधान हर धर्म के लोगों को अपने धर्म के अनुसार चलने और जीने की आजादी देता है. भारत एक बहुत ही प्यारा देश है जहां के लोग बहुत प्रेम और सद्भावना के साथ अपनी जिंदगी गुजारते हैं. भारत में अन्य देशों के मुकाबले काफी प्रेम और भाईचारा देखने को मिलता है. अगर देश की आबादी पर एक नजर डाली जाए तो देश में कुछ आबादी 125 करोड़ के पार है.

एक अनुमान के मुताबिक भारत की जनसंख्या 135 करोड़ के पार पहुंच चुकी है. २०११ में हुए जनगणना के अनुसार भारत की 125 करोड़ की कुछ आबादी में से 100 करोड़ की तादात में हिन्दू आबादी बताई जाती है.

Image Source: Google

भारत में बाकि की आबादी में अल्पसंखक आते है. देश में इस्लाम सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समूह है. भारत में इस्लाम धर्म को मानने वालों की तादात बहुत ही ज्यादा है.

आपको बता दें कि 2011 में हुई जनगणना के मुताबिक भारत मे मुस्लिम जनसंख्या 17.22 करोड़ है. मुस्लिम आबादी का भारत की जनसंख्या में 14.23 फ़ीसद है और भारत में मुस्लिमों का जनसंख्या वृद्धि दर 24.6% है.

Image Source: Google

जो किसी और के मुकाबले सबसे ज्यादा है. इसका सीधा सा मतलब यह हुआ कि हर दस सालों में 24.6% मुसलमानों की जनसंख्या बढ़ जाता है.

वहीं अगर वर्तमान स्थिति की बात करें तो इस आंकड़ों से अंदाजा लगाया जा सकता है. साल 2011 और 2019 के बीच 8 सालों का वक्त गुजर चुका है. इन 8 सालों में 14-16% तक जनसंख्या बढ़ सकती है.

इस हिसाब से 17.22 करोड़ में 2 से 3 करोड़ की आबादी को जोड़ सकते हैं लेकिन याद रहे सिर्फ यह एक अनुमान है. असल आंकड़े 2021 में होने वाली जनगणना के बाद ही सामने आएंगे.