‘जय श्रीराम’ के नारे नहीं लगाने पर गुरुग्राम में मुस्लिम से हुई मारपीट पर भड़के गौतम गंभीर कही बड़ी बात, देखिए

क्रिकेटर से राजनेता बने गौतम गंभीर अब भारतीय जनता पार्टी के पूर्वी दिल्ली से सांसद बन चुके हैं. हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में उन्होंने शानदार जीत दर्ज की है. बेशक गौतम गंभीर राजनीति में नए नए है लेकिन वह रजनीतिक मामलों पर अपनी राय देने में मामले में काफी पुराने है. गंभीर अक्सर ही सोशल मीडिया पर सामाजिक मुद्दों को लेकर बेबाकी से अपने राय देते रहते हैं.

गौतम गंभीर ने एक बार फिर राजधानी नई दिल्ली से सटे गुरुग्राम में कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा एक मुस्लिम के टोपी पहनने पर उसके साथ मा’रपीट करने और उससे ज़बरदस्ती जय श्री राम के नारे लगवाने की घटना पर अपनी राय देते हुए तीखी आलोचना की हैं.

loksbha Gambhir
Image Source: Google

सोमवार को गौतम गंभीर ने अपने एक ट्वीट में इस घटना के सभी आरोपियों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने की मांग करते हुए लिखा कि हम धर्मनिरपेक्ष देश हैं. गंभीर ने अपने ट्वीट में कहा कि गुरुग्राम में मुस्लिम युवक से टोपी उतारने और जय श्रीराम के नारे लगाने के लिए कहना यह पूरी तरह निंदनीय है.

उन्होंने आगे लिखा कि इस मामले में गुरुग्राम प्रशासन द्वारा जल्द से जल्द जरूरी कार्रवाई की जाए. हम एक धर्मनिरपेक्ष देश हैं और जहां पर जावेद अख्तर ओ पालन हारे, निर्गुण और न्यारे लिखते हैं और राकेश ओम प्रकाश मेहरा दिल्ली-6 में दिया गाना अर्जियां लिखते हैं.

आपको बता दें कि गुरुग्राम में मुस्लिम धर्म की पारंपरिक टोपी पहनने को लेकर 25 वर्षीय मुस्लिम युवक के साथ चार अज्ञात लोगों ने कथित तौर पर मा’रपी’ट की है. पीड़ित युवक की पहचान मोहम्मद बरकर आलम के तौर पर हुई है. वह मूल रूप से बिहार के जैकब पुरा इलाके का रहने वाला है.

पुलिस में दी गयी शिकायत में आलम ने आरोप लगाया कि सदर मार्केट मार्ग पर चार अज्ञात लोगों ने उसे रोककर उसके पारंपरिक टोपी पहनने पर आपत्ति जाहिर की. आलम ने बताया कि आरोपियों ने उसे धमकाया और इलाके में टोपी ना पहनने की बात कही. इस दौरान उस से जबरन जय श्री राम के नारे लगवाए गए और उनके साथ मार’पी’ट की गई.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *