मॉब लिं’चिंग पर कमलनाथ सरकार ने बनाया क’ड़ा कानून, अब गो’रक्षा के नाम पर हिं@सा करने वालो पर….

मध्यप्रदेश: गा’य के नाम पर होने वाली मॉब लिं’चिंग को रोकने के लिए मध्य प्रदेश सरकार कड़ा कानून बनाने जा रही है. इस कानून के तहत खुद को गो’रक्ष’क बताकर हिं@सा करने वाले लोगों के खि’लाफ क’ड़ी कार्रवाई की जाएगी. सरकार ये सं’शोधित विधेयक विधान सभा के मानसून सत्र में पेश कर पारित कराना चाहती है. अगर विधेयक पारित होता है तो मध्य प्रदेश में इस तरह के मा’मलों के लिए अलग से कानून बन जाएगा।

राज्य सरकार के गो’वंश व’ध प्र’तिषे’ध अधिनियम 2004 में सं’शोधन को मंजूरी दे दी है। इस अधिनियम को पिछली भाजपा सरकार ने मं’जूरी दी थी। सं’शोधन को सरकार की मं’जूरी के बाद गो हिं@सा नि’रोध’क का’नून के तहत किसी भी तरह की हिं@सा में शामिल व्यक्ति को 6 महीने से 3 साल तक जेल की सजा का प्र’स्ताव किया गया है। इसके अलावा 25000 से लेकर 50000 रुपये तक जुर्माना भी लगाया जाएगा।

Image Source: Google

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार पशुपालन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव मनोज श्रीवास्तव ने कहा कि यदि भी’ड़ गो हिं@सा में शामिल है तो सजा को बढ़ाकर कम से कम एक साल और अधिक से अधिक 5 साल किया जाएगा। दूसरी बार अ’पराध करने की सूरत में जे’ल की सजा की अवधि दोगुनी हो जाएगी। इस संशोधन से उन लोगों को एक से लेकर तीन साल की स’जा का प्रावधान किया गया है जो भी@ड़ को गाय के नाम पर हिं@सा के लिए भ’ड़काते हैं।

बता दें सरकार ने यह कदम सिवनी जिले के डुं’डासि’वनी थाना क्षेत्र के तहत काछीवाड़ा में हुई घ’टना के बाद उठाया गया है। यहां 22 मई को सं’दि’ग्ध रूप से गो@मां’स रखने के आ’रोप में पांच लोगों ने एक मु@स्लि’म व्यक्ति और एक महिला स’मेत तीन लोगों की पि’टा’ई कर दी थी।

इससे पहले राज्य सरकार ने सरकार ने गा’यों को ले जाने सं’बं’धी नियमों को आसान बनाने को निर्णय लिया था। इससे किसानों को गो’रक्ष’कों की तरफ से उत्पीड़न का सामना ना करना पड़ा। साथ ही पुलिस भी उनके वाहन को बिना वजह ना रोके। राज्य सरकार ने उस नियम को हटा दिया जिसमें गो@वंश को सिर्फ बाजार या हाट से ही खरीदने का प्रावधान था। इसके बाद से किसान आपस में गा’यों की खरीद बि’क्री कर सकेंगे।