AMU के कश्मीरी स्टूडेंट्स ने ठुकरा’या सीएम योगी का न्योता, आर्टिकल 370 को लेकर….

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी AMU आज कल लगा तार सुर्ख़ि’यों में बानी हुई है| अभी हाल ही में एक और ताज़ा खबर AMU से सामने आयी है जिसमे वहाँ पर पढ़ रहे कश्मीर के स्टूडें’ट्स ने सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उस न्योते को ठुक’रा दिया है| बता दें कि मुख्यमंत्री आदित्यनाथ का यह न्यौ’ता छात्रों के साथ आर्टिकल 370 और अन्य मु’द्दों पर चर्चा करने के लिए था जिसमे छात्रों को शामिल होना था लेकिन छात्रों ने इस कार्यक्रम में शामिल होने से साफ़ मना कर दिया है। वहीँ दूसरी ओर पश्चिमी यूपी के तीन जिलों के कुछ शिक्षण संस्थानों के स्टूडेंट इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए ही लखन’ऊ पहुंच गए हैं।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री आदित्यनाथ शनिवार को लखनऊ में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में आर्टिकल 370 समेत कई मु’द्दों पर चर्चा करने वाले हैं। इसमें एएमयू के अला’वा गौतम बु’द्धनगर और गाजियाबा’द जिले के शिक्षण संस्थानों में पढ़ने वाले कश्मी’री छात्रों को शामिल होना था।

इसी के चलते एएमयू के पब्लिक रिलेशंस विभाग के प्रभारी सहाफे किदव’ई ने कहा कि यूनिवर्सि’टी प्रशासन ने छात्रों को इस कार्यक्रम के बारे में सूचित किया था, लेकिन अब तक कोई जवाब नहीं मिला है।

बता दें कि किदवई ने शुक्रवार को द इंडियन एक्सप्रे’स से बातचीत करते हुए कहा था कि हमने मंगवार को छात्रों को इस कार्यक्रम के बारे में बताया। हालांकि, कोई इसमें हि’स्सा लेने के लिए आगे नहीं आया। हम किसी छात्र को कार्यक्रम में हि’स्सा लेने के लिए बाध्य नहीं कर सकते।

वहीं इन्फॉर्मेश’न डिपार्टमें’ट के डायरेक्टर शिशिर सिंह ने कहा कि करीब 100 कश्मीरी छात्र शुक्रवार को लखनऊ पहुंचेंगे। साथ ही उन्होंने बताया कि वह तीन जिलों के विभि’न्न संस्था’नों से आ रहे हैं और शनिवार सुबह 11 बजे सीएम आवास पर होने वाली चर्चा में हि’स्सा लेंगे।

इसी के साथ कश्मी’र के अनंतना’ग के रहने वाले एएम’यू के पीचडी छात्र मुबाशि’र शाह ने कहा कि जम्मू कश्मीर का विशे’ष दर्जा हटाया जाना सीएम के आधिकारिक क्षेत्र में नहीं आता। अगर सरकार में से कोई इस मु’द्दे पर हम’से चर्चा करना चाहता है तो वे या तो प्रधानमंत्री होने चाहिए या गृह मंत्री|

साभारः #Jansatta