लाइव डिबेट शो पर मुस्लिम महिला ने की योगी आदित्यनाथ की बोलती बंद

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और अपने संसदीय क्षेत्र गोरखपुर से लगातार पांच बार जीत हासिल कर चुके योगी आदित्यनाथ अपने आपत्तिजनक और भड़काऊ बयानों के कारण अक्सर विवादों में घिरे रहते है। राजनीति में सीएम योगी आदित्यनाथ की पहचान फायरब्रांड हिंदू नेता की रही है यही वजहें है की उनको एक कट्टर हिंदूवादी नेता होने के कारण वोट दिया जाता है।

हिंदुस्तान के मुसलमानों में जितनी विविधता देखने को मिलती है वो किसी और देश के मुसलमानों में नहीं दिखती पहले की सरकारें ख़ास तौर से कांग्रेस की सरकार हमेशा से ही मुसलमानों के प्रति दया भाव तो दिखाती थीं लेकिन उनकी अनदेखी करती आई है मुसलमानों के ख़िलाफ़ सत्ताधारी पार्टी भारतीय जनता पार्टी बीजेपी के नेताओं और मंत्रियों को मुसलमानो के खिलाफ नफ़रत भरी बयानबाज़ी आम बात हो गई है।

क्योंकि यह बात अच्छी तरह से जग-जाहिर हो चुकी है कि सत्ताधारी पार्टी और आरएसएस के लोग मुसलमानो को किस नजरिये से देखते है आरएसएस के लोग हमेशा देश के मुस्लिमों पर आरोप लगाते रहते हैं कि यह पाकिस्तान के समर्थक हैं और मुस्लिम लगातार कहते आए हैं कि हम हिंदुस्तानी हैं हम देश भक्त है यह सर्टिफिकेट देने का खेल जमाने से चल रहा है और मुस्लिमों को इस मामले पर काफी परेशान भी किया जाता रहा है।

इसी मामले को लेकर एक विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है एक लाइव डिबेट शो के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से दो महिलाओं ने ऐसे सवाल किये जिसके बाद उसकी बोलती ही बंद हो गई। उन्होंने पुछा कि ये हिंदुस्तान पूरी दुनिया में साधू-संतो सूफियों-ओलिया-अल्लाह और स्वामी विवेकानंद की संस्कृति के नाम से पहचाना जाता है।

इस देश को कोई भी समुदाय ना तालिबानी ना ओसामा और ना ही किसी पाकिस्तानी उठाता है। बल्कि ये सब साजिश के तहत नफरत फैलाई जाती है अगर इस देश में बहादुर शाह जफ़र वीर अब्दुल हमीद और अशफाक़उल्ला खान भगतसिंह और सुभाषचंद्र बोस जैसे लोगों की तरह आपके विचार हो तो हम यह समझते है कि सभी समुदाय के लोगों को देशभक्ति की सफाई नहीं देनी पड़ेगी।

वही इस महिला ने कहा कि सिर्फ आप ही देशभक्त नहीं है बल्कि पूरा देश ही देशभक्त है। इसके अलावा एक और महिला ने सवाल करते हुए कहा कि हमें हमारे संविधान पर गर्व है और क्या आपको नहीं लगता है कि हिन्दू-मुस्लिम-सिख-ईसाई सभी को लेकर आगे बढ़ाना चाहिए?

हम सब हिन्दुस्तानी है और इसके लिए न आपको हमें सर्टिफिकेट देने की जरुरत है और न ही हमें आप से सर्टिफिकेट लेने की जरुरत है। इसके अलावा इन्होने कहा कि वो मुसलमान जो हिंदुस्तान में रुके है वह पाकिस्तान नहीं जाना चाहते थे इसीलिए वह हिंदुस्तान में रुके और उन्हें अपने राष्ट्रवादी होने पर बहुत गर्व है।

हम सभी यह चाहते है कि हिंदुस्तान आगे बढे और हमारा देश आगे बढे। लेकिन आप तो बांटकर हमें पीछे ले जाना चाहते है।