VIDEO लोकसभा चुनाव 2019: 169 लोकसभा सीटों पर रमजान के दौरान वोटिंग, मुस्लिम धर्मगुरु और नेताओं ने उठाए सवाल

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव की रणभेरी बज चुकी है. राजनीतिक पार्टियां अपनी रणनीति को अंतिम रूप देने में जुट गई हैं. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने 17वीं लोकसभा का चुनाव सात चरण में, 11 अप्रैल से 19 मई के बीच कराने का फैसला किया है। इसके अलावा 23 मई को नतीजे घोषित किए जाएँगेलेकिन मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना खालिद राशिद फिरंगी महली ने चुनाव आयोग से इस साल के लोकसभा चुनाव के अंतिम तीन चरणों की तारीखों को बदलने के लिए कहा है।

मौलाना खालिद राशिद ने कहा की यह चुनाव रमज़ान के पवित्र महीने में पड़ा है। खासकर पश्चिम बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश और दिल्ली की अधिकतर सीटों पर आखिरी तीन चरण में ही मतदान होना है। मौलाना खालिद रशीद फिरंगी ने 6 मई से 19 मई के बीच होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर नाराजगी जताई है।

उन्होंने कहा है कि 5 मई को मुसलमानों के सबसे पवित्र महीने रमजान का चांद देखा जाएगा। अगर चांद दिख जाता है तो 6 मई से रोजे शुरू हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि रोजे के दौरान देश में 6 मई, 12 मई व 19 मई को मतदान होगा, जिससे देश के करोड़ों रोजेदारों को परेशानी होगी।

लखनऊ ईदगाह के इमाम व शहरकाजी मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने चुनाव आयोग से मांग की है कि वह 6, 12 व 19 मई को होने वाले मतदान की तारीख बदलने पर विचार करे। क्योकि 6, 12 और 19 मई को होने वाली आखिरी तीन चरणों की वोटिंग रमजान के दौरान होगी।

गौरतलब है कि रमजान के दौरान मुस्लिम समाज के लोग सुबह सवेरे से शाम तक बिना कुछ खाए-पिए रोजा रखते हैं, ऐसे में ये सवाल उठाए जाने लगे हैं कि रोजे और भीषण गर्मी के दौरान मुस्लिम मतदाता घंटों तक लाइन में लगकर कैसे वोटिंग में हिस्सा ले पाएंगे।

वही कोलकाता के मेयर और टीएमसी नेता फिरहाद हकीम ने आरोप लगाया है कि बीजेपी चाहती है कि अल्पसंख्यक अपना वोट न डालें इसलिए रमजान के दौरान रोजे का ख्याल नहीं रखा गया। फिरहाद हाकिम ने आगे कहा, चुनाव आयोग एक संवैधानिक संस्था है और हम उसका सम्मान करते हैं। हम उनके खिलाफ कुछ नहीं बोलना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, बिहार, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल इन तीन राज्यों में अल्पसंख्यक आबादी काफी ज्यादा है। वह रोजा रखकर वोट डालेंगे। चुनाव आयोग को इस बात को अपने दिमाग में रखना चाहिए था। बीजेपी चाहती है कि अल्पसंख्यक अपना वोट न डालें। लेकिन हम इससे चिंतित नहीं हैं। उन्होंने आगे कहा कि लोग बीजेपी हटाओ-देश बचाओ का मन बना चुके हैं।

वही दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) के मुस्लिम चेहरे और ओखला विधानसभा सीट से विधायक अमानतुल्ला खान ने भी रमजान के दौरान वोटिंग पर सवाल उठाए हैं। अमानतुल्लाह ने ट्वीट कर लिखा, 12 मई का दिन होगा दिल्ली में रमज़ान होगा मुसलमान वोट कम करेगा इसका सीधा फायदा बीजेपी को होगा।

 

सुनील अरोड़ा ने घोषणा की कि पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल, दूसरे चरण का मतदान 18 अप्रैल, तीसरे चरण का मतदान 23 अप्रैल, चौथे चरण का मतदान 29 अप्रैल, पांचवें चरण का मतदान 6 मई, छठवें चरण का मतदान 12 मई और सातवें चरण का मतदान 19 मई को होगा। अरोड़ा ने बताया कि 23 मई को मतगणना के आधार पर चुनाव परिणाम घोषित होगा।