US इंटेलिजेंस की रिपोर्ट में खुलासा- अगर भाजपा कट्टरवाद पर उतरी तो चुनावों से पहले भारत में होगी…

देश में लोकसभा चुनाव नजदीक आ गए है. सूत्रों की माने तो अगले महीने के पहले सप्ताह में लोकसभा चुनाव की तारीखें भी घोषित की जा सकती है. इसी को देखते हुए देश की सभी पार्टियां जोरो शोरो से तैयारियों में जुटी हुई है. वहीं सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी भी अपनी उपलब्धियां गिनवाते हुए जनता से वोट मांग रही है. बीजेपी सत्ता में वापसी करने में पूरा जोर लगा रही है. इसी बीच एक हैरान कर देने वाली बात सामने आई है. एक ख़ुफ़िया रिपोर्ट में सामने आया है कि बीजेपी सत्ता में वापसी के लिए कुछ भी कर सकती है.

रिपोर्ट्स के अनुसार आगामी लोकसभा चुनाव से पहले सत्तारूढ़ बीजेपी देश में संप्रदा$यिक हिं$सा करा सकती है. अमेरिका के ख़ुफ़िया प्रमुख ने अमेरिकी संसद में अपनी एक रिपोर्ट पेश की है जिसमें उन्होंने कहा है कि लोकसभा से पहले भारत में साम्प्रदायिक हिं$सा को अंजाम दिया जा सकता है.

Image Source: Google

अमेरिकी सांसद में अमेरिकी खुफिया प्रमुख डान कोट्स ने कहा कि भारत में होने वाले संसदीय चुनाव से पहले यदि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पार्टी भारतीय जनता पार्टी हिंदू-राष्ट्रवाद पर अधिक जोर डालती है तो इससे भारत में साम्प्रदायिक हिं$सा भड़कने की मजबूत संभावना है.

अमेरिका के सीनेट सलेक्ट कमिटी ऑन इंटेलिजेंस में कोट्स ने वैश्विक खतरों पर आंकलन पेश करते हुए कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में बीजेपी की नीतियों के कारण बीजेपी शासित राज्यों में साम्प्रदायिक तनाव बढ़ रहा है.

उन्होंने कहा कि बीजेपी शासित राज्यों के नेता पार्टी के हिंदू राष्ट्रवादी अभियान को छिटपुट हिं$सा भड़काने के सिग्नल के तौर पर देख सकते हैं ताकि इससे समर्थक जुड़े रहें. खुफिया प्रमुख ने आगे कहा कि लगातार बढ़ रही साम्प्रदायिक हिं$सा से भारतीय मुसलमान खुद को देश में अलग-थलग महसूस करने लग सकते हैं.

उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता है तो भारत में इस्लामिक आतं$की समूहों को अपनी जड़े फ़ैलाने का मौका मिल सकता है. वहीं इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि पीएम मोदी का कार्यकाल मई तक चलेगा इस दौरान भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में और अधिक तनाव बढ़ सकता है.

साभार: aaj tak