जय श्रीराम न कहने पर मौलाना को कार से टक्कर मा’रकर कुचलने की कोशिश, जांच में जुटी पुलिस

नई दिल्ली: दिल्ली के अमन विहार इलाके में एक मदरसे के मौलवी पर हुए कथित ह’मले का मामला सामना आया है। हलाकि पुलिस अभी जाँच कर रही है लेकिन अब तक आरोपियों का कोई सुराग नहीं लग पाया है। मौलवी ने आरोप लगाया है कि गुरुवार को तीन लोगों की जय श्री राम का नारा लगाने को कहा जिसको लेकर मौलाना ने इनकार किया तो उन्हें कार से टक्कर मारी गई। पीड़ित का आरोप था कि कार सवार युवकों ने जान-बूझकर उन्हें टक्कर मारी और बाद में गाड़ी से कुचलने की कोशिश भी की थी।

क्योंकि इस घटना में एक मौलाना साहब को जय श्री राम का नारा ना लगाने की वजह कार टक्कर मारकर कुचलने की कोशिश की गई है। जिसको लेकर पुलिस ने फिलहाल एक्सिडेंट की धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। वही पुलिस का कहना कि वह मौलवी के दावों की जांच कर रही हैं। बता दें कि इस कथित ह’मले में मौलाना के सिर चेहरे और हाथ में गंभीर चोटें आई हैं। जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो रही है।

Image Source: Google

मामला गुरूवार की देर शाम का बताया जा रहा है। पी’ड़ित 40 वर्षीय मौलाना मोहम्मद मोमिन गुरुवार की शाम को टहलने के लिए घर से निकले थे तभी आरोपियों ने इस घटना को अंजाम दिया, मौलाना मोमिन ने कहा कि कुछ लोग कार के अंदर बैठे थे, उन्होंने मुझे रोका और जय श्रीराम बोलने को कहा, जब मैंने ऐसा करने से मना कर दिया. इसके बाद उन्होंने मुझे अ’पश’ब्द कहे और कार से टक्कर मार दी।

मौलाना मोहम्मद मोमिन रोहिणी के सेक्टर 20 में एक स्थानीय मदरसे में पढ़ाते है। मोमिन का दावा है कि जब वह शाम लगभग छह बजकर 45 मिनट पर अपनी मस्जिद की ओर जा रहे थे तो एक कार ने पीछे से उन्हें टक्कर मारी। मोमिन ने कहा तीन लोगों ने मुझ से हाथ मिलाने का प्रयास किया। मुझे उनके इरादों पर शक था लेकिन फिर भी मैंने उनसे हाथ मिलाया।

वही इस मामले को लेकर डीसीपी एस डी मिश्रा का कहना है कि इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई है। जहां तक पीड़ित शख्स मोहम्मद मोमीन का कहना है कि उसे कार सवारों ने धा’र्मिक स्लोगन को बोलने के लिए कहा था तो उसकी जांच की जा रही है। घटनास्थल पर मौजूद सीसीटीवी की फुटेज को भी खंगाला जा रहा है। इस घटना के लिए जो कोई भी दोषी होगा उसे कड़ी सजा दिलाई जाएगी।