जमीयत उलमा-ए-हिन्द के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने दिया इस्तीफा, जानिए क्या वजह?

जमीयत उलमा-ए-हिन्द के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने दिया इस्तीफा, जानिए क्या वजह?

नई दिल्ली: भारत की आज़ादी में महत्वपूर्ण योगदान देने वाली क्रांतिकारी दल जमियत उलेमा ऐ हिन्द भले ही दो भागों में बंट गई हो लेकिन इसकी पहचान में कोई कमी नही आई है, देशभर में इसको सम्मान की निगाह से देखा जाता है। जमीयत उलमा-ए-हिंद के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना सैय्यद महमूद मदनी ने अपने पद से त्यागपत्र दे दिया।

उन्होंने अपना त्यागपत्र अध्यक्ष कारी मोहम्मद उस्मान मंसूरपुरी को भेजा है। अचानक लिए गए इस फैसले से सभी लोग हैरान हैं। हालांकि इस्तीफा देने की क्या वजह रही इसके बारे में न तो मदनी कुछ कहने को तैयार हैं और न ही कारी उस्मान कुछ बता पा रहे हैं। लेकिन अभी उनका इस्तीफा मंजूर नहीं किया गया है।

बताया जा रहा है, की मदनी ने मंगलवार की रात्रि अध्यक्ष कारी मोहम्मद उस्मान मंसूरपुरी को अपना इस्तीफा एक बंद लिफाफे में भेजा जिसे पढ़कर कारी उस्मान मंसूरपुरी काफी परेशान हुए। मदनी ने जो त्यागपत्र कारी उस्मान को भेजा उसमें कुछ शब्दों का इस्तेमाल किया जाना कई सवाल खड़े कर रहा है।

वहीं मुस्लिम बुद्धिजीवियों में जमीयत उलमा-ए-हिन्द के महासचिव मौलाना महमूद मदनी के इस्तीफे को लेकर बहस छिड़ गई है। इस संबंध में मौलाना महमूद मदनी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उन्होंने इस्तीफा दिया है, लेकिन इसकी वजह क्या है इस पर मदनी ने केवल इतना ही कहा कि उन्होंने इस्तीफे में सब कुछ लिखा है।

उन्होंने अपने इस्तीफे में लिखा है कि ससम्मान मान्यवर की सेवा में सविनय निवेदन है कि यह निष्क्रिय अपनी समस्त निष्क्रियताओं और विभिन्न निजी कारणों से महासचिव जमीयत उलमा-ए-हिंद के पद से त्यागपत्र देता है।

Leave a comment