VIDEO: नोटबंदी के बाद अब सोने पर गिरी गाज, मोदी सरकार लेने जा रही है दूसरा सबसे बड़ा फैसला

नई दिल्लीः केंद्र की मोदी सरकार कालेधन पर लगाम लगाने के लिए नोटबंदी के बाद अब एक और बड़ा कदम उठाने जा रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक काली कमाई से यानि कालेधन के जरिए सोना खरीदने वालों के लिए मोदी सरकार एक योजना लाने जा रही है. सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार आयकर की एमनेस्टी स्कीम की तरह सोने के लिए भी एमनेस्टी स्कीम लाने की योजना बना रही है। बता दें एमनेस्टी स्कीम के तेहत अब लोगों को तय मात्रा से ज्यादा सोने की जानकारी और उसकी कीमत सरकार को बतानी होगी।

जानकारो के मुताबिक गोल्ड में एमनेस्टी स्कीम के लिए एक मसौदा भी तैयार किया जा चुका है और इस मसौदे को कैबिनेट के सामने जल्द रखा जाएगा. एमनेस्टी स्कीम में सोने की कीमत तय करने के लिए वैल्यूएशन सेंटर से सर्टिफिकेट लेना होगा. लोगों को तयशुदा मात्रा से अधिक बगैर रसीद वाले सोने की खरीद की जानकारी साझा करनी होगी और उस पर एक तय मात्रा में टैक्स देना होगा।

आपको बता दें कि नोटबंदी के बाद केंद्र की मोदी सरकार का कालेधन पर लगाम लगाने के लिए यह दूसरा सबसे बड़ा फैसला होगा. वही मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मोदी सरकार एमनेस्टी स्कीम के अलावा सोने को एसेट क्लास के तौर पर विकसित करने के लिए भी बड़ी घोषणा कर सकती है. साथ ही सरकार सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम की ओर निवेशकों का रुझान बढ़ाने के लिए इसमें भी जरूरी बदलाव हो सकते हैं।

सबसे बड़ी बात: यह की इस स्कीम को एक खास समय सीमा के लिए ही खोला जायेगा. स्कीम खत्म होने के बाद तय मात्रा से ज्यादा गोल्ड पाए जाने पर भारी जुर्माना देना होगा. सूत्र बताते हैं कि मंदिर और ट्रस्ट के पास पड़े सोने को भी प्रोडक्टिव इन्वेस्टमेंट के तौर पर इस्तेमाल करने के लिए ऐलान हो सकता है।

 

वित्त मंत्रालय के इकोनॉमिक अफेयर्स विभाग और राजस्व विभाग ने मिलकर इस स्कीम का मसौदा तैयार किया है. अक्टूबर में ही इस पर चर्चा होनी थी, लेकिन हरियाणा और महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों के चलते इसे अगले महीने के लिए टाल दिया गया था जिसके बाद अब सरकार इसपर विचार कर रही है।

दरअसल मोदी सरकार घरों और बैंक के लोकरों में बंद सोने को अर्थव्यवस्था में शामिल करना चाहती है ताकि उसकी कुछ उपयोगिता हो सके. इसके लिए सोने को एसेट क्लास के तौर पर बढ़ावा देने के भी एलान हो सकते हैं. सोवरन गोल्ड बॉन्ड स्कीम को आकर्षक बनाने के लिए अहम बदलाव किए जा सकते हैं।

साभार: zeebiz