असदुद्दीन ओवैसी का ये सच जान कर तो हिन्दू भी करेंगे उनकी तारीफ, क्या है वो सच

नई दिल्ली/ हैदराबाद: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन यानी एआईएमआईएम के मुखिया और सांसद असदुद्दीन ओवैसी चर्चा में हैं। आए-दिन विवादित बयानबाजी करने के आरोप लगते रहते है कभी वो कट्टरपंथी बयानों तो कभी भाजपा पर हमला करने की वजह से चर्चा में रहते हैं। अक्सर उनको हिन्दू विरोधी समझा जाता है लेकिन ओवैसी का एक सच जो छिपा हुआ है, अगर ये बात जान गए तो हिन्दू भी उनकी तारीफ किए बगैर नहीं रह सकेंगे। आइए हम आपको बताते हैं।

हैदराबाद और लंदन में पढ़े हैं ओवैसी

एआईएमआईएम के सांसद असदुद्दीन ओवैसी हैदराबाद और लंदन में पढ़े हैं। वो हैदराबाद में ही पैदा हुए हैं। लंदन से उन्होंने कानून की डिग्री हासिल की है। आपको पता नहीं होगा लेकिन ओवैसी ने बॉक्सिंग भी लंदन से सीखी है और वो अच्छे बॉक्सर भी हैं।

हमेशा लगता है हिंदू विरोधी होने का आरोप

ओवैसी के विरोधी अक्सर उनके ऊपर हिंदू विरोधी होने का आरोप लगाते हैं। कई बार वो भाजपा के खिलाफ बयान देते हैं जिसको गलत अर्थ में ले लिया जाता है। हालांकि कम ही लोग उनके बारे में वो बात जानते हैं जो जानकर उनकी तारीफ किए बिना नहीं रह सकेंगे।

आखिर क्या है वो सच, आइए जानें

अब हम आपको वो सच बताते हैं। ओवैसी चुनावों के दौरान सिर्फ मुसलमानों को ही नहीं बल्कि हिन्दू प्रत्याशियों को भी टिकट देते हैं। वो टिकट बंटवारे में भेद नहीं करते हैं। उनकी पार्टी ने कई बार हिन्दुओं को चुनाव मैदान में उतारा है।

AIMIM पार्टी ने प्रकाश राव ए सत्यनारायण और हैदराबाद के मेयर रह चुके अलमपल्ली पोचया शामिल हैं। एमआईएम ने विधानसभा चुनावों में भी कई हिंदू नेताओं को टिकट दी है. नवीन यादव, शरत नालिगंती मुरलीधर रेड्डी किसान रेड्डी ने एमआईएम की तरफ़ से विधानसभा चुनाव लड़ा था।