मुस्लिम समुदाय को धमकी, होली से पहले पहले घर छोड़ो या बेच के निकल जाओ नहीं तो…

देश की राजधानी दिल्ली में इतनी बड़ी घटना हो जाने के बाद अगर आपको लगता है कि लोगों में नफ़रत की आग अब ठंडी पड़ चुकी होगी तो आपका सोचना ग़लत है। बेहद शर्म की बात है कि भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में इस तरह की वारदातें हो रही है। जहां एक हिन्दुस्तानी दुसरे हिन्दुस्तानी का खु’न का प्यासा बन गया है। घर्म के नाम पर इस तरह का ज’हर फैल गया है।

नजफगढ़ के लोगों को होली पर माहौल बिगड़ने का डर सता रहा है. लोग डरे हुए हैं. लोगों का आरोप है कि उन्हें होली से पहले घर छोड़कर जाने के लिए कहा गया है। नजफगढ़ के पास निखिल विहार में रहने वाले एक समुदाय के लोगों का कहना है कि अभी तक यहाँ से 12 परिवार गावं छोड़ कर जा चुके हैं। हलाकि इस मामले की शिकायत पुलिस से भी कर दी गई है। जिसके बाद से इलाके में अलर्ट है।

द हिन्दू की खबर के मुताबिक दिल्ली से सटे हरियाणा बार्डर पर बसे गांव निखिल विहार से खबरें आ रही है जो कि हिन्दू बहुल इलाका है। जहाँ मुसलमानो के मात्र 25 से 30 परिवार रहते हैं। वह भी ऐसे परिवार जो दिन भर मजदुरी करते हैं। कई सालो पहले यहां लोग दुर दराज से काम की ललक में यहां आए थे। लेकिन शानिवार शाम जो कुछ हुआ उससे वहां के लोग द’हशत में हैं।

दरअसल, गावं में रह रहे मुस्लिमो का कहना है कि 29 फरवरी को 40 से 50 की संख्या में लोग इ’कट्ठा होकर यहां आए। और गावं के एक समुदाय के घरों के बारे में जानकारी ली। फिर बारी बारी कई लोगों के घर पहुंच कर उन्हें होली से पहले घर खाली कर चले जाने के लिए कहा। जिसके बाद गावं में अफ़रा तफ़री के माहौल में कुछ मुस्लिम परिवार गांव, छोड़ कर भाग गए हैं।

यहाँ के मुस्लिमों का कहना है की हमें धमकी दी कि होली से पहले गांव खाली कर दे। आप या तो मकान बेच दे या छोड़ यहां से चले जाएं। लेकिन आपको यहां नहीं रहना है। आस पड़ोस के बुढ़े बुजुर्ग तो हिन्दू समुदाय के थे। उन्होंने बताया कि कुछ बच्चे जो हमारे गांवों के थे। वहां घम काने गए थे। बाकी दिल्ली के दुसरे जगह से आए थे।

वही हिन्दू समुदाय के एक बुजुर्ग ने कहा की गावं में कई छोरे ज्यादा हिन्दू हिन्दू चिल्लाने लगे हुए हैं। पता नही कौन इनके दिमाग खराब कर रहा है। हालाकिं गांव के पास ही पुलिस की एक जिप्सी खड़ी है।

जहा तैनात पुलिस ने बताया कि उन्हें इस घटना की जानकारी मिली है। फिल हाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। लेकिन हम जांच कर रहे हैं किसी को डरने की जरूरत नहीं है।