विडियो: सिरोंज मध्यप्रदेश में मुस्लिम महिला के साथ मॉब लिं#चिंग की घटना, हालत नाज़ुक

देशभर में पिछले 4 सालों में जो नफरत का ज़हर बोया गया था वो अब एक एक करने मुस्लिम समुदाय के लोगों के लिए अभिशाप बनता जा रहा है| नफरत की गंदे राजनीती के चलते हुक्मरानों ने लोगों को कातिल बना दिया| भीड़ वो भी इतनी बेरहम की एक मजलूम औरत पर बेरहमी से पिटाई करे उसके पेट में लात मारे? इंसानियत ही मर गयी लगता है लोगों के दिलों में, मध्यप्रदेश में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने पूरे देश को शर्मसार कर दिया|

भीड़ ने दो महिलाओं को इतना पीटा की उन्हें ICU में भर्ती किया गया

मध्यप्रदेश के मुख्य्मंतरी शिवराज सिंह के गढ़ सिरोंज में एक मुस्लिम महीला की भीड़ द्वारा बेरहमी से पिटाई की गयी, उसके पेट में लटें मारीं गयीं जब तक वो बेहोश होकर ज़मीन पर न गिर पड़ी| ये घटना 15 सितम्बर की है जिसमे सिरोंज से एक मुस्लिम परिवार अपनी क्वालिस गाड़ी से गंजबासौदा अपनो रिश्तेदारों से मिलने के लिए जा रहा था| इस गाडी में कुल पञ्च लोग सवार थे जिनमे से तो नौजवान लड़के और तीन महिलाएं थीं| जिनमे से एक महिला जिनका नाम राजकुमारी अहिरवार है ये थीं|

आपको बता दें कि जब इनकी गाड़ी ऊहर नमक गाँव से निकल रही थी तब उसी दौरान एक भैंस का बच्चा इन लोगों की गाड़ी से इसलिए टकराया था, जो की उसके सामने से आ रही बस के तेज़ हॉर्न को सुनकर वो बिदक कर भगा था| उस भैंस के बच्चे के टकराते ही वहां मौजूद ग्रामीणो ने इनकी गाड़ी को चरों तरफ से घेर लिया और देखते ही देखते सारा गाँव वहां इकठ्ठा हो गया|

गाड़ी चला रहे सैफ़ अली ने जल्दी से नीचे उतारकर देखा तो उस भैंस के बच्चे को ज़रा भी चोट नहीं आयी थी| लेकिन गाँव वालों ने उसके साथ मारपीट करना शुरू कर दी, और उसको मार खाता देख दूसरा युवक जिसका नाम जावेद है वो गाड़ी से नीचे उन लोगों में बीच बचाव करने गया तो उसको भी मरने लगे, ये सब देख गाड़ी में सवार महिलाओं ने इनका विरोध किया तो गाँव वालों ने इन तीनों महिलाओं के साथ भी मारपीट की जिसमे अज़रा बी को ज़मीन पर पटक कर पेट में जमकर लातें मरने की वजह से वो बेहोश हो गयीं|

अज़रा बी की हालत बेहद नाज़ुक बनी हुयी है

आपको बता दें की पिछले 24 घंटों में अज़रा बी को होश तक नहीं आया है और वे अभी तक बेहोशी की हालत में ICU में हैं| इनको घटना के बाद सिरोंज ले जाया गया था, जहाँ डाक्टरों ने उनको भोपाल रेफर कर दिया था| जबकी इस घटना में दोनों लड़कों को मामूली चोटें आयी हैं लेकिन इनके साथ राजकुमारी अहिरवार को भी भोपाल हमीदिया में रेफेर किया गया था, क्योंकी इनके साथ भी भीड़ ने खासी मारपीट की थी| फिलहाल राजकुमारी खतरे से बहार हैं| इस घटना के बाद इन लोगों की कुछ भले सिरोंज के ही समाजसेवी लोगों के द्वारा मदद की गयी| वक़्त रहते इंसानियत काम आना ही चाहिए|

मामले में पुलिस की संदिघ्ध भूमिका

एक बात और जानकारी लेने के बाद निकलकर सामने आयी है कि इस मामले में इन लोगों की पुलिस ने कोई सुनवाई नहीं की, और मामले को रफा, दफा करने की कोशिश की जा रही थी| घायलों को भोपाल ले जाने के बाद इस मामले में आरिफ मसूद के दखल के बाद इस घटना की जीरो पर कायमी की गयी| जिसके बाद यह केस गंजबासौदा थाने को ट्रांसफर किया गया| इस मामले की बाकी जानकारी आपको इस वीडियो में मिल जायेगी|