नवाजुद्दीन बोले- लॉकडाउन का मतलब लॉकडाउन, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपका धर्म क्या है?

नई दिल्लीः अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीग जमात मामले को लेकर पूरे देश में ह’ल्ला म’चा हुआ है। बता दें निजामुद्दीन मरकज़ में 24 लोग संक्रमित पाए गए हैं जबकि 441 सं’दि’ग्धों को अस्पताल में क्वा’रंटीन किया गया है। मरकज में शामिल लोग उत्तर प्रदेश तेलंगाना तमिलनाडु महाराष्ट्र पश्चिम बंगाल सहित देश के कई राज्यों में पहुंच चुके हैं। प्रशासन इनकी तलाश में जुटा है।

बता दें निजामुद्दीन में तब्लीग ए जमात मामले को लेकर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। इसी बीच अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी का कहना है कि ऐसा करने से कई जिंदगियां ख’तरे में पड़ रही हैं। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि सभी को कोरोना वायरस को लेकर सरकार द्वारा घोषित लॉकडाउन का सम्मान के साथ पालन करना चाहिए।

अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने अपने स्टेटमेंट में आगे कहा कि इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन हैं या आपका धर्म क्या है? क्योंकि अगर आप लॉकडाउन का पालन नहीं कर रहे हैं तो न केवल आप अपने जीवन के साथ खेल रहे हैं। बल्कि दूसरों की जिंदगी भी ख’तरे में डाल रहे हैं।

गौरतलब है कि निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए जमातियों में अब तक 24 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। आशंका जताई जा रही है कि ये मामले और बढ़ सकते हैं। मरकज से वापस लौटे लोगों की तलाश में 20 से ज्यादा राज्यों में अभियान चलाया गया है और कई लोगों को ट्रेस कर लिया गया है।

वही तमिलनाडु की स्वास्थ्य सचिव बीला राजेश ने जानकार दी है कि तमिलनाडु के 45 लोग जो दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए थे, उनके कोरोना वायरस से सं’क्रमि’त होने की पु’ष्टि हुई है। साथ ही विशाखापट्ट नम में भी कोरोनो वायरस के चार नए मामलों की पु’ष्टि हुई है। को मरकज में शामिल हुए थे।

Leave a comment