CAA- NRC: अब उत्तर प्रदेश की तरह दिल्‍ली पुलिस ने भी दिया आदेश, दिल्ली में प्रदर्शनकारियों से होगी….

नई दिल्ली: बीते 15 दिसंबर को जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के पास हुए नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज जारी किए हैं। पुलिस ने तीन वीडियो जारी किए हैं, जिनमें बाइक से पैट्रोल निकालने और वाहनों को आ’ग लगाने की तस्वीरें कैद हैं। पुलिस ने दावा किया है कि ये सभी फुटेज 15 दिसंबर के हैं और प्रदर्शनकारियों ने ही आ’गज’नी और हिं’सा की थी।

वहॉ दिल्ली पुलिस भी अब सीएए के खिलाफ हुए प्रदर्शन के नुकसान की भरपाई प्रदर्शनकारियों से करेगी, दिल्ली पुलिस ने हिं’सा के दौरान हुए संपत्तियों के नुकसान का अनुमान लगाने के लिए आयुक्त नियुक्त किए जाने को लेकर अपने रजिस्ट्रार जनरल के माध्यम से दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा ख’टखटा’या है।

दिल्ली पुलिस ने यह कदम उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ की घोषणा के बाद उठाया है, जहाँ सीएम योगी ने हिं’सा के बाद घोषणा की थी कि CAA के प्रदर्शन में जिन लोगों ने पब्लिक प्रॉपर्टी और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है। इसकी भरपाई प्रदर्शनकारियों की संपत्ति को जब्त करके नुकसान की भरपाई होगी।

आपको बता दें दिल्ली पुलिस के डिप्टी कमिश्नर (क्राइम ब्रांच) जॉय तिर्की ने कहा, क्लेम कमिश्नर SC के फैसले के दिशा-निर्देशों के अनुसार न्याय के हित में नुकसान का आकलन करने और दायित्व की जांच करने में हमारी मदद करेंगे।

उन्होंने कहा कि एक बार जब क्लेम कमिश्नर की नियुक्ति हो जाती है, तो जांच के दौरान सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी किए गए सभी दिशानिर्देशों का पालन किया जाएगा और नुकसान के लिए जिम्मेदारी तय की जाएगी और नुकसान की भरपाई वास्तविक अप’राधि’यों और साथ ही आयोजकों द्वारा द्वरा भराई जाएगी।

नागरिकता कानून के विरोध प्रदर्शन के दौरान जामिया मिलिया इस्लामिया, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी, दरियागंज, सीलमपुर और जाफराबाद में कई बसों सहित कम से कम 10 सार्वजनिक और निजी वाहनों को आ’ग के हवाले कर दिया गया था।