अब IMF ने भी खोली पीएम मोदी की पोल-कहा, भारत में साफ नजर आ रहा है वैश्विक…

देश में चल रही आर्थिक मंदी की समस्या दिन व दिन बढ़ती जा रही है| देश के हालात दिन प्रतिदिन बिगड़ते जा रहे हैं जिसके चलते अभी कुछ दिन पहले RBI ने देश के हालातों को लेकर चिंता जताते हुए मोदी सरकार की पोल पट्टी खोली थी और अब इसका जिक्र विदेशों में भी हो रहा है| देश की आर्थिक मंदी को लेकर अब IMF ने भी मोदी सरकार की पोल-पट्टी खोल दी है| जबकि केंद्र की मोदी सरकार अब तक इस बात से इनकार करती रही है कि भारत की अर्थव्यवस्था पर मंदी का कोई असर नहीं है। अब सब साफ़ हो गया है कि मोदी जी लोगों को सिर्फ भ्रम में डाल रहे हैं और खुद भी भ्रम में जी रहे हैं|

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की प्रबंधन निदेशक ने इस बात पर मुहर लगा दी है कि भारतीय अर्थव्यवस्था पर मंदी का असर साफ़ दिखाई दे रहा है। साथ ही आईएमएफ की नई प्रबंधन निदेशक क्रिस्टालिना जियॉरजीवा ने कहा कि इस समय पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्थाएं समकालिक मंदी की चपेट में हैं, लेकिन भारत जैसी बड़ी और उभती अर्थव्यवस्था पर मंदी का असर स्पष्ट नजर आ रहा है।

इसी के चलते आईएमएफ की प्रबंधन निदेशक ने कहा कि चारों तरफ फैली मंदी का मतलब यह है कि साल 2019-20 के दौरान बढ़ोतरी दर इस दशक की शुरूआत से अब तक सबसे निचले स्तर पर पहुंच जाएगी। उनके मुताबिक, विश्व का 90 प्रतिशत हिस्सा कम वृद्धि का सामना करेगा।

जानकारी के मुताबिक़ अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की प्रबंधन निदेशक के रूप में क्रिस्टालिना जियॉरजीवा मंगलवार को अपना पहला भाषण दे रही थीं। इस दौरान उन्होंने कहा कि दो साल पहले दुनिया की अर्थव्यवस्था बढ़ रही थी, और विश्व का करीब 75 प्रतिशत हिस्सा बढ़ रहा था। लेकिन अब वैश्विक अर्थव्यवस्था समकालिक मंदी की चपेट में है।

क्रिस्टालिना जियॉरजीवा ने आगे कहा कि अमेरिका और जर्मनी में बेरोजगारी ऐतिहासिक निचले स्तर पर है। बावजूद इसके अमेरिका, जापान और खास तौर पर यूरो क्षेत्र की विकसित अर्थव्यवस्थाओं में आर्थिक गतिविधियों में नर्मी देखी गई है।

जानकारी के लिए बता दें कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की प्रबंधन निदेशक ने कहा कि वैश्विक व्यापारिक वृद्धि करीब-करीब थम गई है। इसके साथ ही आईएमएफ ने घरेलू मांग बढ़ने की उम्मीद से कम संभावना की वजह से भारत की आर्थिक वृद्धि के अनुमान में वित्तवर्ष 2019-20 के लिए 0.3 फीसदी की कमी कर उसे 7 प्रतिशत कर दिया है।

साभारः #NavJeevan.Com