अब हरियाणा की खट्ट’र सरकार ने इस मुस्लि’म बहुल क्षेत्र का बदला नाम

हरियाणा सरकार ने राज्य की आर्थिक राजधानी गुड़गांव का नाम बदलकर गुरुग्राम करने का फैसला के बाद अब गुड़गांव के पड़ोसी जिले का नाम भी बदलकर दिया है भारतीय जनता पार्टी में राजनीतिक तासीर बदली जा रही है जो कभी अलग राह पर नजर आता था। मुस्लि’म बहुल मेवात में बदली राजनीति जमीन का बड़ा सुबूत है। मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल की जन आशीर्वाद यात्रा से भाजपा को मेव की सियासी जमीन अब अपने लिए उपजाऊ बनने की उम्‍मीद जगा रही है।

जागरण डॉट कॉम की खबर के मुताबिक़ नूंह एक मुस्लि’म बाहुल्य इलाका है जिसे कभी मेवात के नाम से जाना जाता था। अप्रैल 2016 में भाजपा सरकार के मुखिया और हरयाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्ट’र ने मेवा’त का नाम बदलकर नूंह कर दिया था।

आपको बता दें कि मेवात का नाम बदलने के पीछे एक अलग ही कहानी है जो वहा के निवासी और उनके मान सम्मान से जुड़ी हुई है| बता दें कि मेवात हमेशा से ही बदनाम रहा है| जब भी कोई दिल्ली एनसीआर में बड़ी घट’ना होती तो मेवात का ही नाम लिया जाता था|

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मेवात कोई स्थान कोई जगह नहीं है बल्कि यह एक क्षेत्र है जो सिर्फ हरयाणा में ही नहीं उत्तरप्रदेश और राजिस्थान में भी है|

जब भी कभी देश में कोई बड़ी या आपराधिक घट’ना होती तो हरयाणा के मेवात क्षेत्र का नाम बदनाम होने लगता इसी वजह से बीजेपी सरकार ने मेवात के लोगों की इस पीड़ा को समझते हुए मेवात का नाम बदल कर नूंह कर दिया| बता दें की सरकार के इस फैसले से अब वहाँ के लोग बहुत खुश हैं और इस फैसले के कारण अब उनका मान सम्मान भी सुरक्षित है|