अब Toyota और Hyundai बंद होने की कगार पर, हजारो कर्मचारिओं को नौकरी से निकला

नई दिल्लीः देश में चल रही आर्थिक मंदी के कारण हजारो कंपनियां बंद हो चिकि है और कई बंद होने की कगार पर है। आर्थिक मंदी ने देश के ऑटो सेक्टर कंपनियों की हालत खस्ता कर दी है | आर्थिक मंदी का अंदाज़ा आप इसी बात से लगा सकते हैं की पिछले कई दशकों से कार और बाइक की बिक्री सबसे नीचे पहुँच गयी है इसी साल के रिकॉर्ड के मुताबिक़ जुलाई से लेकर सितंबर महीने तक लगातार ऑटो सेक्टर कंपनियों में गिरावट देखने को मिली है। इस क्षेत्र के जानकार ऑटो सेक्टर में आयी कमी का कारण देश में चल रही नौकरियों की कमी और नौकरियों की कटौती बता रहे हैं।

बता दें कि जापान की कार बनाने वाली टोयोटा मोटर और दक्षिण कोरिया कि कंपनी हुंडई मोटर में भी भारी गिरावट देखने को मिल रही है इस समस्या से निपटने के लिए टोयोटा मोटर और हुंडई मोटर ने कुछ समय के लिए गाड़ियां बनाना बंद कर दिया है मंदी का असर यहां तक पहुंच गया है की कंपनी को अपनी यूनिटी को मजबूर होकर बंद रखना पड़ रहा है साथ ही साथ कई कर्मचारियों को भी निकाला जा रहा है।

Image Source: Google

जनसत्ता में छपी खबर के अनुसार सिर्फ टोयोटा मोटर और हुंडई मोटर ही नहीं बल्कि देश की कई सारी कम्पनियाँ अपने अस्थाई कर्मचारियों को निकाल रही है भारत की जानी-मानी कंपनी डेनसो कॉर्प जो कारों के लिए पावरट्रेन और एसी सिस्टम बनाती है उसने भी अपने मानेसर प्लान से 350 अस्थायी कर्मचारियों को निकाल दिया है।

यही नहीं मारुति सुजुकी की हिस्सेदारी वाली कंपनी बेलसोनिका ने भी अपने यहां मानेसर में 350 कर्मचारियों की छुट्टी कर दी है। बता दें कि बेलसोनिका फ्यूल टैंक और ब्रेक पैड बनाती है। लेखाओं की खबर के अनुसार यह पता चला है कि गाड़ियाँ बनाने वाली कंपनीयं, गाड़ियों के पुर्जे बनाने वाली कंपनियां और डीलने ने अपने यहां से लग-भग 3.50 लाख लोगों को नौकरी से हटाया है।

आपको बता दें टोयोटा द्वारा 13 अगस्त को जारी हुए नोटिस में टोयोटा ने अपने कर्मचारियों से कहा कि, कंपनी बाजार में वाहनों की कम डिमांड को देखते हुए बेंगलुरु प्लांट में 16 और 17 अगस्त को प्रोडक्शन नहीं करेगी। कंपनी के पास अभी 7000 वाहनों का स्टॉक है।

इसी के साथ आपको बता दें कि टॉयोटा भारतीय कंपनी के डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर एन. राजा ने कहा कि, स्टॉक बढ़ने से बचाने के लिए कंपनी ने अगस्त में पांच दिन प्रोडक्शन नहीं करने का फैसला किया है और कहा कि सरकार को इंडस्ट्री की मदद करने के लिए आगे आना चाहिए।

वही दक्षिण कोरिया की कंपनी हुंडई ने भी 9 अगस्त को अपने कर्मचारियों के लिए एक मेमो जारी किया है जिसमे कंपनी ने अपनी यूनिट के बॉडी शॉप पेंट शॉप और अपने इंजन और ट्रांसमिशन प्लांट के साथ ही अन्य विभागों में कई दिन तक प्रोडक्शन को रोक देने को कहा कंपनी के प्रवक्ता का कहना है कि कंपनी को अब अगले महीने से शुरू हो रहे त्योहार के सीजन में बिक्री बढ़ने की उम्मीद है।