न्यूज़ीलैंड पीएम का सरहनीय कदम- मस्जिदों पर आतंकी ह’मले के बाद न्यूजीलैंड में बना नया ह’थियार कानून

न्यूजीलैंड में हाल ही में दो मस्जिदों पर एक आ$तंकी द्वारा अं’धा’धुंध गो’लीबा’री की गई थी. जिसमें करीब 50 लो’गों ने अपनी जा’न गं’वा दी थी जबकि इस हमले में 42 लोग जख्मी हो गए थे. क्राइस्टचर्च स्थ‍ति डीन एवेन्यू मस्जिद में 42 लोग मा’रे गए और लिनवुड मस्जिद में सात की मौ’त हो गई थी.

यह ह’मला जुमे के दिन किया गया था जब मस्जिद काफी लोग थे. न्यूजीलैंड पुलिस के अनुसार आ$तंकी ब्रिटिश मूल का 28 वर्षीय ब्रेंटन टैरेंट है जो ऑस्ट्रेलिया का रहने वाला है. वह हथियारों के साथ मस्जिद में दाखिल हुआ था.

आ’तंकी बड़ी तादात में हथियार लेकर आया था जिसके बाद अब न्यूजीलैंड सरकार ने देश में हथियार को लेकर नया विधेयक पास किया है. गुरुवार को न्यूजीलैंड के गवर्नर जनरल ने सैन्य शैली के ह’थि’यारों पर रोक लगाने के लिए एक नए विधेयक पर मुहर लगा दी है.

इसके बाद अब यह कानून का रूप ले लेगा. पुलिस के अनुसार प्रतिबंधित बंदूकों को वापस लेने के लिए एक कार्यक्रम की घोषणा की जाएगी. हथि’यार आधी रात से ही अवैध श्रेणी में आ जाएंगे लेकिन पुलिस ने बताया कि वापस खरीदी (बायबैक) पर विस्तृत जानकारी मिलने तक छूट कार्यक्रम प्रभावी रहेगा.

आपको बता दें कि न्यूजीलैंड सरकार ने साल 2005, 2012 और 2017 में भी बंदूक कानून को बदलने का प्रयास किया था. क्राइस्टचर्च हम’ले के बाद ही न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न ने कहा था कि देश के बंदूक कानून में बदलाव होगा.

इसे लेकर उन्होंने कहा था कि मुझे बताया गया कि मुख्य दोषी ने हमले के लिए पांच बंदूकों का इस्तेमाल किया था. उसके पास इनका लाइसेंस भी था जिन्हें उसने नवंबर 2017 में हासिल किया था. इस घटना को देखते हुए सरकार ने फैसला किया है कि अब हमारा बंदूक कानून बदला जाएगा.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *