पैगंबर मोहम्मद साहब के ख़िलाफ़ आपत्तिजनक पोस्ट डाली, मुस्लिम समाज में भारी आक्रोश

उत्तर प्रदेश के मेरठ के सरधना थाना क्षेत्र के अंतर्गत, एक युवक के द्वारा सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक पर हजरत पैगंबर मोहम्मद साहब पर आपत्तिजनक पोस्ट शेयर कर दी. यह पोस्ट 22 अक्टूबर 2019 को डाली गई थी, और जैसे ही धीरे-धीरे यह लोगों तक पहुंची सरधना के मुस्लिम समाज समेत पूरे उत्तर प्रदेश में रोष फैल गया. हालांकि इस दौरान पोस्ट डालने वाले युवक ने इस पोस्ट को हटा दिया था.

लेकिन तब तक मामले ने तूल पकड़ लिया, लोग इस युवक की घटिया हरकत से काफी नाराज़ थे, वह आरोपी के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर पूर्व चेयरमैन के यहां अपना विरोध दर्ज करने दर्जनों लोगों की भीड़ पहुंच गयी, फिर उसके बाद यह भीड़ कोतवाली पहुंची.

पैगंबर मोहम्मद साहब के ख़िलाफ़ आपत्तिजनक पोस्ट डाली

लोग इस युवक के द्वारा फेसबुक पर पैगंबर साहब के खिलाफ पोस्ट डालने पर, इस आरोपी युवक को गिरफ्तार करने की मांग करने लगे. आखिरकार देर शाम पुलिस को इस आरोपी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करना पड़ा.

फेसबुक पर पैगंबर साहब के खिलाफ पोस्ट डालने वाले युवक का नाम ‘शुभम आर्य’ है. यह युवक कस्बा निवासी है, जिसने अपनी फेसबुक आईडी से धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाली पोस्ट शेयर की थी, इसने पोस्ट में काफी आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया था.

देखते ही देखते इस पोस्ट पर कमेंट के जरिए काफी लोगों की बहस होने लगी, और इंटरनेट पर यह पोस्ट थोड़ी ही देर में वायरल हो गई. हंगामे को बढ़ता देख आरोपी ने उसे डिलीट कर दिया, लेकिन तब तक कई लोगों ने इसके स्क्रीनशॉट ले लिए थे.

इसके बाद कुछ जिम्मेदार लोगों ने इस मुद्दे पर पहले एक स्थान पर निजी मीटिंग की, और इसमें निर्णय लिया गया कि हंगामा कर रहे लोगों को सबसे पहले शांत रखा जाए. इस बीच अधिकारियों को भी इस बात की जानकारी हो चुकी थी तो एसएसपी और एसपी देहात एवं कोतवाली प्रभारी ने खुद नगर के गणमान्य व्यक्तियों को फोन किया.

इन्होने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने को लेकर उन्हें आश्वस्त किया, और साथ ही इसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के आश्वासन भी दिए. इसका नतीजा यह हुआ कि शहर के गणमान्य लोगों ने भी उन्हें पूरा भरोसा दिलाया कि यहां हम किसी भी कीमत पर माहौल खराब नहीं होने देंगे.

हालांकि कस्बे में तनाव जैसी स्थिति बनी हुई है. लेकिन स्थिति काबू में है, क्योंकि आपत्तिजनक पोस्ट को शेयर करने के मामले में अभी तक तीन युवकों को धर लिया गया है. सोशल मीडिया पर इस तरह का यह पहला मामला नहीं है, तुच्छ मानसिकता के लोगों को जरा भी इस बात का एहसास नहीं होता कि उनके एकमात्र पोस्ट शेयर कर देने से कितने लोगों में अशांति पैदा हो सकती है.

Indian Muslim Pro वेबसाइट आप सभी से अपील करता है कि, इंटरनेट पर आप किसी भी सोशल साइट का उपयोग कर रहे हों तो किसी भी धर्म या समुदाय के खिलाफ किसी भी तरह की आपत्तिजनक बातें अथवा पोस्ट को शेयर करने से बचें.

हम एक धर्मनिरपेक्ष देश के निवासी हैं, और हमारे भारत का कोई भी धर्म हमें इस बात की इजाजत नहीं देता कि हम किसी दूसरे के धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंचाएं. आप चाहे किसी भी धर्म या समुदाय से ताल्लुक रखते हों, आप की कोशिश होना चाहिए कि आपकी वजह से लोग खुश रहें, न कि उनमें एक दुसरे के प्रति हीन भावना पनपे.