अयोध्या फैसला..? सीएम योगी का शख्त आदेश- नहीं बर्दाश्त की जाएगी किसी पक्ष द्वारा भड़काऊ…

लखनऊ: अयोध्या फैसले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने हाई अलर्ट कर दिया गया है। एडीजी लखनऊ जोन एसएन साबत ने बयान दिया है कि इस फैसले को लेकर पूरा पुलिस मेहकमा तैयार रहे उत्तर प्रदेश, राजिस्थान सहित कई राज्यों में फोर्स की तैनाती का प्लान बना लिया गया है। वही दिवाली के तुरंत बाद अलग से फोर्स की तैनाती की जाएगी। फ़िलहाल राम मंदिर और बाबरी मस्जिद के फैसले को लेकर हर कोई सोच रहा है की फैसला आने के बाद क्या होगा।

इसी फैसले को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी से अपने सरकारी आवास पर मुलाकात की और इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि राम मंदिर मुद्दे पर जो भी फैसला आए, उसे लेकर कोई भी सार्वजनिक रूप से प्रतिक्रिया नहीं होनी चाहिए। भ’ड़की’ले बयान किसी भी स्तर पर नहीं होने चाहिए। इसके लिए सोशल मीडिया पर भी खास निगरानी रखनी होगी।

आपको बता दें वह शनिवार को देर रात को अपने सरकारी आवास पर उच्च अधिकारियों के साथ मीटिंग करते हुए सभी जिलों के अधिकारियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से निर्देश दे रहे थे। उन्होंने सभी जिलों के डीएम और पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रमुख संगठनों, धर्म गुरुओं और नेताओं की सुरक्षा को लेकर समीक्षा जरूर करें।

सीएम योगी ने कहा कि आगामी दीपोत्सव के दृष्टिगत सीमावर्ती क्षेत्रों में निरंतर निगरानी होनी चाहिए। नेपाल में मुस्लि’म मुक्ति मोर्चा की गतिविधियां सं’दि’ग्ध हैं। वही बार्डर से सटे जनपदों के अधिकारी सतर्क रहें। एसएसबी के साथ भी बेहतर तालमेल बनाएं। सीमावर्ती नेपाली प्रशासन से भी संवाद कायम करें। उनसे सूचनाएं हासिल करें, जिससे अराजक तत्वों के मंसूबे विफल किए जा सकें।

वही अयोध्या फैसले को लेकर बिहार, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा व दिल्ली के बार्डर वाले जिलों के अधिकारीयो को भी सतर्क रहने को बोला गया है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने भरोसा दिलाया कि माघ मेले में किसी भी तरह की कोई दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। मेला पहले से अच्छा होगा।

मुख्यमंत्री योगी ने कुंभ मेले की तर्ज पर माघ मेले में व्यवस्था कराए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि माघ मेले में भी श्रद्घालुओं की सुविधाओं का पूरा ख्याल रखा जाएगा। मेले में विद्युत व्यवस्था, स्वच्छता और स्वास्थ के साथ ही सुरक्षा की भी पुख्ता व्यवस्था रहेगी। योगी ने माघ मेले के दौरान साधु-संतों और श्रद्धालुओं के लिए गंगाजल की पर्याप्त उपलब्धता रहने का भी आश्वासन दिया।

source: livehindustan

Leave a comment