VIDEO: लोकसभा में तीन तलाक का ओवैसी ने किया विरोध, कहा- जब तक रहेंगे अपने दीन, क़ुरआन और सुन्नत पर रहेंगे

नई दिल्ली: लोकसभा में तीन तलाक पर गुरूवार को बहस के दौरान इसके पक्ष और विपक्ष में बातें राजनीतिक दलों की तरफ से रखी जा रही है। इस बिल का जेडीयू के साथ ही सभी विपक्षी राजनीतिक दलों द्वारा विरोध किया जा रहा है। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लि’मीन के अध्यक्ष और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने इस बिल का विरोध किया है। उन्होंने इस बिल को संविधान और मुस्लि’म औरतों के खिलाफ करार दिया।

दरअसल रविशंकर प्रसाद ने यह बात लोकसभा में ​तीन तलाक विधेयक पर चर्चा की शुरुआत करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, यह मामला सिर्फ नारी और उसे मिलने वाले न्याय का है. इस मौके पर रविशंकर प्रसाद का यह भी कहना था मेरी सदन से गुजारिश है कि इस विधेयक को ध्वनिमत से पारित किया जाए जिससे कि महिलाओं को न्याय मिल सके।

Image Source: Google

ऑल इण्डिया मजलिस ऐ इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख बैरिस्टर असदउद्दीन ओवैसी ने अपने भाषण की शुरुआत तीखे अंदाज में की उन्होंने कहा कि मैं तीसरी बार इस बिल के खिलाफ खड़ा हुआ हूं और जबतक जिंदगी रहेगी तबतक इस बिल का विरोध करता रहूंगा ओवैसी ने कहा कि तीन तलाक को इस सरकार ने अपरा’ध में डाल दिया ऐसे में फिर महिला का पालन-पोषण कौन करेगा।

हैदराबाद सांसद बोले कि इस्लाम में निकाहनामा है आप भी एक कंडिशन लगा दीजिए कि अगर कोई तीन तलाक देगा तो उसे महिला को मेहर की रकम का 500 गुना जुर्माना देना होगा. तभी ओवैसी ने कहा कि इस्लाम में शादी एक कॉन्ट्रैक्ट है और आप कह रहे हैं कि जन्म-जन्म का साथ है ऐसा मत कीजिए और हमारी बात को समझिए।

सांसद ने कहा कि अगर कोई मुसलमा’न आदमी गलती से तीन बार तलाक बोल देता है तो शादी नहीं टूटती है. उन्होंने दावा किया कि इस्लाम में 9 किस्म के तलाक होते हैं और तीन तलाक उसमें से सिर्फ एक है. तीन तलाक बिल के विरोध में ओवैसी ने कहा कि इससे महिला पर बोझ बढ़ेगा, क्योंकि अगर शौहर जेल में चला जाएगा तो फिर महिला को पैसा कौन देगा।

उन्होंने कहा कि अगर पति को ही जेल में डाल देंगे तो वह औरत को मुआवजा कैसे दे पाएगा। 3 साल तक पति जेल में रहे और उसकी पत्नी जेल के बाहर 3 साल तक उसका इंतजार करती रहे। ओवैसी ने सरकार पर शादी को खत्म करने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि सरकार बिल के माध्यम से शादी को खत्म कर रही है। इस बिल की वजह से औरतें सड़कों पर आ जाएगी। जब पति तीन साल बाद जेल से आएगा तो औरत कहेगी…बहारो फूल बरसाओ मेरा महबूब आया है।

असदउद्दीन ओवैसी की इसी बात के साथ सदन में ठहाके लगने शुरू हो गए. इसके अलावा असदुद्दीन ओवैसी ने सरकार से मॉब लिंचिंग पर कानून बनाने की अपील की।

Leave a comment