VIDEO: हैदराबाद की सड़कों पर सीएए-एनआरसी के विरोध में ओवैसी की तिरंगा यात्रा, विशाल तिरंगा यात्रा में हर धर्म के लोग हुए शामिल

देश के अलग-अलग हिस्सों में नागरिकता संशोधन कानून, 2019 एनआरसी और एनपीए को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी है। जिसमें अब तक हुई हिं’सा में कई लोगों की जा’न जा चुकी है। विरोध अब भी जारी है और अब इस कड़ी में हैदराबाद की ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के नेतृत्व में एक विशाल तिरंगा रैली निकाली गई। ओवैसी के द्वारा निकाले गये इस तिरंगा पदयात्रा को मीर आलम ईदगाह से शास्त्रीपुरम तक ले जाया गया।

बता दें ओवैसी ने इस पदयात्रा को लेकर यह ऐलान किया है कि वह चारमीनार पर भी तिरंगा लहराएंगे। इसके लिए उन्होंने 10×30 फूट लंबा तिरंगा बनाने का ऑडर दे दिया है। और यह पदयात्रा लगभग चार किलो मीटर तक चलने की बात कही। हैदराबाद में यूनाइटेड मुस्लि’म एक्शन कमिटी के बैनर तले नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी और एनपीए के विरोध में इस तिरंगा पदयात्रा का आयोजन किया गया है।

असदुद्दीन ओवैसी के नेतृत्व में इस विशाल तिरंगा यात्रा को जुम्मे के नमाज के बाद ईदगाह मीर आलम से शुरू कर शास्त्रीपुरम ग्राउंड तक गए यह तिरंगा रैली 4 किलोमीटर लंबी रही. इसके बाद ओवैसी ने लोगों को संबोधित किया. तिरंगा रैली में लोगों के हाथों में पोस्टर-बैनर भी थे. पोस्टर और बैनर में असदुद्दीन ओवैसी और अकबरुद्दीन ओवैसी की तस्वीर, व उनके पिता की तस्वीर के साथ नारे भी लिखे थे।

इस विशाल तिरंगा यात्रा के दौरान भी’ड़ में लोगों के हाथों में अंबेडकर की तस्वीर भी थी. इन लोगों का कहना था कि वो अंबेडकर के संविधान को मानते हैं लेकिन इस नए कानून को नहीं मानते हैं. संविधान की प्रस्तावना के हिस्से को लिखकर उनको आधार मान लोग इस नए कानून का विरोध कर रहे थे।

 

बता दें कि हैदराबाद में नागरिकता संशोधन के खिलाफ होने वाले इस पदयात्रा को लेकर लोगों के द्वारा भारी संख्यां में तिरंगा झंडे कि बिक्री हुई है। इस कानून को लेकर होने वाले सभी प्रदर्शनों में तिरंगे के झंडे का इस्तेमाल किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ इस पदयात्रा को लेकर तेलंगाना हाईकोर्ट में सुनवाई भी होनी है।