पाक मीडिया अपने दर्शकों को लुभाने के लिए ले रही है, पुरानी वीडियो का सहारा, पकड़ा गया झूठ

भारतीय वायुसेना द्वारा एलओसी पार करके पाकिस्तान में जैश के आ$तंकी कैंपों पर की गई कार्रवाई के बाद से ही पाकिस्तान और भारत के बीच लगातार तनातनी बढ़ती जा रही है. इसी बीच भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने मीडिया को बताया कि पाकिस्तान ने भारतीय सेना पर हम’ले का प्रायस किया जिसे सेना ने नाकाम कर दिया और उनका एक फाइटर विमान मा’र गिराया. रवीश कुमार ने बताया कि भारतीय हवाई सीमा में एक पाकिस्तानी लड़ाकू विमान एफ16 आ गया था.

उन्होंने बताया कि इसे खदेड़ने के लिए छह मिग विमानों ने उड़न भरी थी इसमें से पांच विमान सुरक्षित लौट आए है लेकिन हमारा एक मिग क्रैश हुआ है और उसका पायलट लापता है. इसी बीच पाकिस्तान ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए दावा किया कि उन्होंने एक भारतीय पायलट को गिरफ्तार किया है.

Image Source: Google

इसी बीच पाकिस्तान में स्थानीय मीडिया के हवाले से कुछ तस्वीरें सामने आने लगी. सोशल मीडिया पर कुछ वीडियो और फोटोज जमकर शेयर किये जाने लगे और इन्हें भारतीय वायु सेना पर पाकिस्तानी फ़ौज की जवाबी कार्रवाई बताया जाने लगा.

लेकिन न्यूज़ एजेंसी बीबीसी की पड़ताल में पाकिस्तान मीडिया में किये गए दावे पूरी तरह से ग़लत साबित हुए. सोशल मीडिया पर पाक मीडिया में दिखाए जा रहे यह वीडियो और फोटो पुराने है और इनका भारत और पाकिस्तान के बीच बुधवार को हुई कथित सैन्य कार्रवाई से कोई वास्ता नहीं है.

Image Source: Google

इससे पहले पाकिस्तान की फ़ौज के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ़ गफ़ूर ने कहा कि उन्होंने दो भारतीय पायलटों को गिरफ़्तार किया है और दो भारतीय फ़ाइटर विमान मा’र गिराए हैं. पाकिस्तानी सेना द्वारा गिरफ़्तार किए गए एक पायलट का वीडियो भी फ़ौज ने सोशल मीडिया पर जारी किया है.

पाकिस्तान की फ़ौज द्वारा पायलट को गिरफ्तार करने और फाइटर विमान को गिराने के दावे के बाद #Pakistaniarmyzindabad, #Pakistanairforceourpride और #Pakistanstrikesback जैसे हैशटैग ट्विटर पर ट्रेंड करने लगे. इसी बीच इन हैशटैग्स के साथ कुछ पुरानी तस्वीरें और वीडियो भी जमकर शेयर किये जाने लगे.

Image Source: Google

पाकिस्तान की सेना ने दो भारतीय पायलटों को जीवित पकड़ लिया है यह दावा तो सही है लेकिन जो तस्वीरें इस खबर के साथ शेयर की जा रही है वह गलत हैं. वायरल वीडियो भारतीय वायु सेना में विंग कमांडर विजय शेल्के का है जो इसी महीने (19 फ़रवरी 2019) को बेंगलुरु एयर शो से पहले दो सूर्यकिरण विमानों के टकराने से घायल हो गए थे.

इसके बाद उनके बचाव के लिए बेंलगुरु के कुछ स्थानीय लोग मौक़े पर गए थे और उनके बातचीत की थी. इस तस्वीर को सिर्फ सोशल मीडिया पर ही नहीं बल्कि स्थानीय मीडिया द्वारा भी दिखाया गया. पाकिस्तान के कुछ मीडिया चैनलों ने इसे सरकारी एजेंसी द्वारा जारी की गई दुर्घटनाग्रस्त विमान की तस्वीर बताया है. लेकिन यह तस्वीर 2015 की है.

Image Source: Google

3 जून 2015 को भारतीय वायु सेना का यह विमान तकनीकी ख़राबी के कारण ओडिशा के मयूरभंज ज़िले में गिर गया था. वहीं एक और तस्वीर वायरल हो रही है जो राजस्थान के जोधपुर की है. जोधपुर में 13 जून 2016 को भारतीय फ़ाइटर विमान- मिग 27 गिर गया था.