एक मात्र कम्पनी जिसने जुमे की नमाज़ के लिए महिला कर्मचारियों को दी जगह

नोएडा: भाजपा शासित हरियाणा में खुले में नमाज पढ़ने पर विवाद के बाद अब उत्तर प्रदेश की हाईटेक सिटी नोएडा में भी पुलिस ने पार्क में जुमे की नमाज पढ़ने पर रोक लगा दी है। गौतमबुद्धनगर के एसएसपी अजयपाल शर्मा ने एक नोटिस जारी कर नोएडा सेक्टर 58 औद्योगिक क्षेत्र स्थित कंपनियों को पत्र लिखकर कर्मचारियों से खुले में नमाज पढ़ने से बचने की सलाह दी है।

वही पुलिस की ओर से जारी नोटिस में कहा गया है कि यदि किसी औद्योगिक संस्थान के कर्मचारी निर्देश का उल्लंघन करते हुए पाए जाते हैं तो इसके लिए संबंधित कंपनियों को जिम्मेदार ठहराया जाएगा। इस नोटिस में लिखा गया कि सेक्टर 58 स्थित अथॉरिटी के पार्क में नमाज पढ़ने या किसी भी धार्मिक आयोजन की अनुमति नहीं है।

इस संबंध में मुस्लिम समुदाय की ओर से डीएम से अनुमति मांगी गई थी, लेकिन इसपर उन्हें किसी तरह की अनुमति नहीं दी गई है। ऐसे में यहां पर नमाज पढ़ने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। लिहाजा जिले की पुलिस ने इलाके कंपनियों को नोटिस जारीकर अपने कर्मचारियों को नमाज पढ़ने से रोकने के लिए कहा गया था।

अब नोएडा शहर के पार्कों में जुमे की नमाज पर प्रशासनिक रोक के बाद कंपनियों की छतों पर इसे अदा किया जाने लगा है। इस बीच सेक्टर-94 की एक कंपनी की छत पर महिलाओं ने सामूहिक रूप से जुमे की नमाज अदा की। बता दें की एक निजी कंपनी ने अपनी ऑफिस की छत पर मुस्लिम महिलाओं को शुक्रवार की नमाज अदा करने के लिए जगह दे रही है।

यह शहर में महिलाओं को नमाज अदा करने के लिए उपलब्ध बहुत कम सार्वजनिक स्थानों में से एक है। हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक जुमे के दिन कारखाने की छत को दो भागों में विभाजित किया जाता है, जहां एक पर, पुरुष इकट्ठा होते हैं और दूसरे पर महिला कर्मचारी हर शुक्रवार को नमाज अदा करते हैं।

कंपनी के एक कर्मचारी फरीद ने बताया की हमारी कंपनी ने मैट गद्दे और एक इमाम के लिए भी मदद की है ताकि नमाजियों की सहायता की जा सके, एक महिला कर्मचारी, जिसने नाम न बताने की शर्त पर कहा।

मैं पिछले 13 सालों से कंपनी का कर्मचारी हूं, सामान की देखभाल करता हूं। मैंने एक ऐसी संस्कृति देखी है जहां शुक्रवार को मुस्लिम कर्मचारियों को जगह दी जाती है, हिंदू कर्मचारियों के लिए नवरात्रों के दौरान भजनों का आयोजन किया जाता है। इन प्रथाओं के कारण सकारात्मक माहौल बना है।