अल्हम्दुलिल्लाह: फिलिस्तीनियों को रोज़ा इफ़्तार के लिए सऊदी सरकार ने भेजा 25 हज़ार किलो….

सऊदी अरब रमज़ान शुरू होने के बाद से ही लगातार कई गरीब देशों की सहायता करने में लगा हुआ है. रमजान के इस पाक माह में जिन लोगों के पास इफ्तार की व्यवस्था भी नहीं है उन्हें सऊदी द्वारा इफ्तार का सामान बांटा जा रहा है. इसी के तहत सऊदी अरब ने संकटग्रस्त फिलिस्तनी को भी मदद भेजना शुरू किया है. साथ ही सऊदी शरणार्थियों के लिए मदद भेज रहा है.

अल-रेसाला अखबार में छपी खबर के अनुसार गाजा में फिलिस्तीनी अवाकफ मंत्रालय ने सोमवार को घोषणा की है कि सऊदी अरब द्वारा गरीब फिलिस्तीनियों के लिए गो’श्त भेजा गया है.

Image Source: Google

फिलिस्तीन अवक़ाफ़ मंत्रालय के निदेशक अमीर अब्दुल-अमरीन ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि गो’श्त की खेप गुरुवार तक गाजा पहुंच जाएंगी. उन्होंने यह भी बताया कि 25,000 हजार किलो गो’श्त आया है जिसमें वध किए गए भेड़ भी शामिल हैं.

मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि गोश्त की यह खेप ने रज़ा क्रॉसिंग के माध्यम से गाजा पट्टी में प्रवेश किया. वहीं फिलिस्तीनी रेड क्रीसेंट ने मिस्र के इस समन्वय के लिए धन्यवाद दिया जिन्होंने गाजा में मांस शिपमेंट में प्रवेश को आसान बनाया.

आपको बता दें कि सऊदी द्वारा गोश्त के इस शिपमेंट की सोशल मीडिया यूजर द्वारा कड़ी आलोचना की गई थी. यूजरों का दावा था कि सऊदी अरब ने फिलिस्तीनियों की कीमत पर इजराय’ल के कब्जे का खुलेआम समर्थन किया था. इसलिए सऊदी से इस तरह की अधिक सहायता नहीं लेना चाहिए.

वहीं इस सब से परे फिलिस्तीनी मंत्रालय ने सऊदी अरब को फिलिस्तीनी लोगों के लिए मदद करने के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए उन्हें धन्यवाद दिया. आपको बता दें कि सऊदी अरब द्वारा शरणार्थियों के लिए मदद करने के कदम की संयुक्त राष्ट्र उच्चायुक्त (UNHCR) ने भी सराहना की हैं.

सऊदी अरब की दुनिया भर में अपने जीवनरक्षक शरणार्थी सहायता कार्यक्रमों के लिए जमकर सराहना हो रही हैं. खाड़ी सहयोग परिषद (जीसीसी) देशों के UNHCR में क्षेत्रीय प्रतिनिधि खालिद खलीफा ने किंग सलमान मानवतावादी सहायता और राहत केंद्र (KSRelief) के महासचिव डॉ. अब्दुल्ला अल-रबेह से मुलाकात भी की थी.