यूपी: पुलिसकर्मियों ने अपने मुस्लिम सिपाही को दी 2.31 लाख रुपये की ईदी, मामला जानकर आप भी करेंगे सैल्‍यूट

यूपी के गाज़ियाबाद जनपद के तहत आने वाले साहिबाबाद थाने के पुलिसकर्मियों ने ऐसा काम किया है जिसे जानकर हर कोई उन्हें सलाम कर रहा हैं. ईद के मौके पर थाने में तैनात 213 पुलिसकर्मियों ने अपने साथी को 2.31 लाख रुपये दिए हैं. यह रुपये सिपाही के लिए किसी ईदी से कम नहीं हैं. गाजियाबाद पुलिस ने इसकी फोटो अपने ट्व‍िटर अकाउंट पर पोस्‍ट की है.

इसके बाद से ही पुलिस के इस कदम की जमकर सराहना हो रही है. दरअसल कांस्‍टेबल मंसूर तुलसी निकेतन चौकी पर तैनात हैं. उनके पिता मुरादाबाद के गांव उमरीकलां में खेती करते हैं. मंसूर के परिवार माता-पिता, पत्‍नी रन्नूम, ढाई साल की बेटी फातिमा, चार महीने की बेटी कातिजा व 6 अन्य भाई हैं.

Image Source: Google

पूरे परिवार के पालन-पोषण का जिम्‍मा उन पर ही है. लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान मंसूर की ड्यूटी हरदोई में लगी थी तबकी उनकी तबीयत बिगड़ गई. इसके बाद उन्‍हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया. बाद मंसूर ने जब गाजियाबाद के एक अस्पताल में चेकअप कराया तो पता चला कि उन्हें ब्लड कैंसर हैं.

इसके बाद उन्हें एमएमजी अस्पताल में भर्ती कराया और उनकी हालत को देखते हुए उन्‍हें यहां से दिल्‍ली में एम्स रेफर कर दिया गया लेकिन वहां उनको बेड खाली नहीं मिला. बाद में वह 24 मई को दिल्‍ली के सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती हो गए यहां उन्हें इलाज के लिए करीब 22 लाख रुपये का खर्च आयेगा.

मंसूर के पिता अब तक पौने 3 लाख रुपये इलाज के लिए दे चुके हैं. ऐसे में मंसूर के सामने पैसों की बड़ी समस्‍या खड़ी हो गई. इस बुरे वक्‍त में उनके साथी पुलिसकर्मी उनके साथ खड़े हुए हैं. इसके बाद थाने में तैनात 213 पुलिसकर्मियों ने अपने सामर्थ्‍य अनुसार रुपये जमा किए.

ऐसा करके उन्होंने 2 लाख 31 हजार रुपये जमा करके ईद से पहले उनके पिता को 2.31 लाख रुपये दिए. गाजियाबाद पुलिस ने ट्वीट करते हुए लिखा कि थाना साहिबाबाद के पुलिस ने थाने पर तैनात कैंसर से पीड़ित आरक्षी मंसूर के परिजनों को 2,31000 रुपये की आर्थिक मदद प्रदान की गई साथ ही उनके जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना भी की.