बड़ी खबर: कोरोना वायरस के चलते तुर्की में ईद-उल-फितर को लेकर लिया गया बड़ा फैसला

रमज़ान का पाक़ महिना चल रहा है, ईद की तैयारियां चल रही है. इसी बीच तुर्की के राष्ट्रपति ने एक बड़ी घोषणा की हैं. तुर्की राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगान ने कोरोना वायरस के चलते जारी कर्फ्यू में ईद के मौके पर कोई भी छूट देने से साफ इंकार कर दिया हैं. इतना ही नहीं एर्दोगान ने 23-26 मई के बीच ईद-उल-फितर की छुट्टियों पर देश भर में 4 दिवसीय लॉकडाउन का ऐलान किया है.

इससे पहले मना जा रहा था कि ईद के अवसर को देखते हुए तुर्की में लागू लॉकडाउन में कुछ छुट दी जा सकती है लेकिन अब इन अटकलों पर राष्ट्रपति की घोषणा के बाद विराम लग गया है. तुर्की सरकार ने इस 4 दिवसीय राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन का फैसला साप्ताहिक कैबिनेट बैठक के दौरान लिया.

 

कैबिनेट की यह साप्ताहिक बैठक दुनिया भर में कहर फैला रही महामारी कोरोनो वायरस के खिलाफ देश द्वारा लड़ी जा रही लड़ाई की समीक्षा के लिए आयोजित की गई थी. बैठक के दौरान तुर्की को इस प्रकोप से बचाने और कोरोना के प्रसार को धीमा करने के लिए कई तरह के उपाय करने पर फैसला लिया गया.

उन्हीं उपायों के एक भाग के रूप में ईद पर इस लॉकडाउन का ऐलान किया गया है. अंकारा में कोरोनो वायरस के नए मामलों की गति रोकने के लिए कर्फ्यू को आगे बढ़ाने का फैसला लिया गया है. वहीं पिछले पांच सप्ताहांतों और राष्ट्रीय अवकाशों पर भी प्रमुख शहरों में लॉकडाउन किया जा रहा है.

आमतौर पर तुर्की में रमजान के पवित्र महीने के अंत को चिह्नित करने वाली ईद के मौके पर अवकाश रहता है. ईद के मौके पर अवकाश की तीन से चार दिन की रहती हैं. इस साल ईद की यह छुट्टियों 24-26 मई के बीच रहने वाली है.  एर्दोगान ने बताया कि अब इस साल स्कूल नहीं खोले जाएगें.

वहीं नया स्कूल वर्ष सितंबर से शुरू कराया जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि यात्रा पर लगे प्रतिबंधों को सभी 15 प्रांतों में 15 दिनों तक आगे बढ़ाया जाता हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस महामारी के खिलाफ लड़ाई तुर्की सफलतापूर्वक जीत लेगा. उन्होंने अपने नागरिकों से सोशल डिस्टेंस का कड़ाई से पालन करने के लिए कहा और चेतावनी दी कि अगर कोरोना के प्रसार में वृद्धि होती है तो और कठिन कदम उठाए जाएगें.

Leave a comment