VIDEO: प्रियंका गांधी ने यूपी पुलिस पर लगाया बदसलूकी का आरोप, पुलिस ने मुझे धकेला, मेरा गला दबाया

लखनऊ: नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हिं’सा के आरोप में गिरफ्तार सदफ जफर और पूर्व पुलिस अधिकारी आईपीएस एसआर दारापुरी के परिवार से मिलने के लिए शनिवार को लखनऊ पहुंची कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी को पुलिस ने रोक लिया।

इस दौरान प्रियंका गांधी वाड्रा ने यूपी पुलिस पर आरोप लगते हुए संवाददाताओं से कहा कि वह शनिवार को CAA के खिलाफ हुए हिं’सक प्रदर्शन के मामले में गिरफ्तार किये गये सेवानिवृत्त आईपीएस अफसर एस.आर. दारापुरी के परिजन से मुलाकात करने के लिये पार्टी राज्य मुख्यालय से निकली थीं।

इस दौरान रास्ते में लोहिया चौराहे पर पुलिस की गाड़ी अचानक आगे आई और रोक लिया और मैं गाड़ी से उतरकर पैदल चलने लगी मुझे घेरा गया और एक महिला पुलिसकर्मी ने मेरा गला दबाया. मुझे धक्का दिया गया और मैं गिर गयी। आगे चलकर फिर मुझे पकड़ा तो मैं एक कार्यकर्ता के टू-व्हीलर से निकली. उसे भी गिरा दिया गया।

वही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक सिंह ने बताया कि इस हाई वोल्टेज ड्रामे के दौरान हलकान हुई पुलिस और पार्टी नेताओं के बीच अफरा तफरी का माहौल पैदा हो गया. कुछ देर तक तो पता ही नहीं चला कि प्रियंका जी कहां गयीं. बाद में मालूम हुआ कि वह दारापुरी के घर पहुंच गयीं हैं. इस दौरान उन्होंने करीब तीन किलोमीटर पैदल सफर किया।

हालांकि, बाद में प्रियंका गांधी गिरफ्तार किए गए रिटायर्ड आईपीएस एसआर दारापुरी के परिवार से मिलने के गई और पुलिस ने प्रियंका का काफिला वहां भी रोका तो प्रियंका गांधी पैदल ही रिटायर्ड आईपीएस एसआर दारापुरी के परिवार से मिलने के लिए पहुंच गईं. बता दें, पिछले दिनों दारापुरी को नागरिकता कानून का विरोध करने के लिए गिरफ्तार किया गया था।