प्रियंका की एंट्री पर बदले रामदेव के सुर, बताया- डायनिमिक बहन

गांधी परिवार की तीसरी पीढ़ी की सदस्‍य प्रियंका गांधी वाड्रा को सक्रिय राजनीति में उतरने का ऐलान हाल ही में किया गया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी बहन प्रियंका वाड्रा को पार्टी महासचिव बनाया और साथ ही उन्‍हें पूर्वी यूपी में पार्टी की डूबती नैया को पार लगाने की जिम्‍मेदारी दी गई हैं. प्रियंका के सक्रीय राजनीति में आने की घोषणा के साथ ही कांग्रेस की विरोधी पार्टियों में हंगमा सा मचा हुआ है. वहीं कई नेताओं और पार्टियों के सुर तो कुछ बदले बदले ही नजर आने लगे हैं. डूबती हुई कांग्रेस को प्रियंका का सहारा मिलने से कई लोग घबराए हुए नजर आ रहे हैं.

प्रियंका की एंट्री ने यूपी के सभी सियासी समीकरण ध्वस्त कर दिए हैं. उनके आने से कांग्रेस मजबूत होगी और यह बात बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना भी मन चुकी हैं. वहीं हवाओं का रुख बदलते देख मोदी के कट्टर समर्थक के तौर पर जाने जाने वाले बाबा रामदेव के सुर भी कुछ बदले बदले नजर आने लगे हैं.

Image: Google

प्रियंका को लेकर रामदेव ने आजतक से एक खास बातचीत के दौरान कहा कि पीएम मोदी का व्यक्तित्व बहुत बड़ा है वह देश के लिए लगातार 18-18 घंटे काम करते हैं. मोदी जी के लिए हमारी आज भी शुभकामनाएं हैं लेकिन प्रियंका जी डायनिमिक बहन हैं.

हालांकि उन्होंने कहा कि प्रियंका के पास राजनीतिक अनुभव और देश के लिए योगदान मोदीके जितना नहीं है लेकिन वह उन्हें कड़ी टक्कर देने वाली हैं. रामदेव ने कहा कि हो सकता है कि आने वाले लोकसभा चुनाव में प्रियंका चुनाव भी लड़ें क्योंकि सोनिया जी की उम्र भी काफी हो चुकी हैं.

रामदेव ने कहा कि उनको दिखाना होगा कि वह देश के विकास और निर्माण के बारे में क्या कर सकती हैं. वहीं दोनों की तुलना को लेकर बाबा ने कहा कि मोदी और प्रियंका की तुलना करना सही नहीं है दोनों में उम्र और अनुभव में काफी फर्क हैं.

रामदेव ने दोनों में संतुलन साधने का काफी प्रयास किया लेकिन आखिर में खुलकर प्रियंका की तारीफ करते हुए नजर आए. रामदेव हमेशा से ही कांग्रेस और गांधी परिवार को भारती की दुर्दशा का जिम्मेदार मानते हुए आए और उन्हें कोसते हुए ही नजर आते थे.

Leave a comment