CAA के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों को लेकर हिंदू महासभा का वि’वादित बयान, जानिए क्या कहा

नई दिल्लीः नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और (NRC) के विरोध में पिछले 62 दिनों से भी ज्यादा समय से दिल्ली के शाहीनबाग प्रदर्शन चल रहा है। यहां दिन प्रति दिन प्रदर्शनकारियों की संख्या बढ़ती जा रही है। हलाकि शाहीन बाग में दिल्ली चुनाव के बाद से ही एक तरह से दिन के वक्त सन्नाटा पसरने लगा है। लेकिन रात होते होते लोगों की संख्या बढ़ जाती है।

इसी को लेकर शाहीन बाग धरनास्थल पर प्रदर्शनकारियों को जुटाने के लिए गुरुवार को पूरे इलाके में लाउडस्पीकर से लोगों को अधिक संख्या में धरनास्थल पर पहुंचने का ऐलान करवाया गया। बीते कुछ दिनों से लगातार शाहीन बाग में लाउडस्पीकर से धरनास्थल पर लोगों के आने की अपील की जा रही है।

वही इस मामले को लेकर हिंदू महासभा ने सरकार से आग्रह किया है कि नागरिकता संशोधन कानून सीएए का विरोध करने वाले प्रदर्शनकारियों को गो’ली मा’र दी जाए। साथ ही महासभा ने यह भी कहा कि राजद्रोह के लिए नसीरुद्दीन शाह और डॉ काफील जैसे लोगों को फां’सी पर लटका दिया जाए।

टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के अनुसार हिंदू महासभा के प्रवक्ता अशोक पांडेय ने कहा की नसीरुद्दीन शाह आ’तंक’वा’दियों से प्रभावित हैं। हलाकि हिंदू महसभा शुरू से ही सीएए, एनपीआर और एनआरसी का विरोध करने वालों के खिलाफ आक्रामक रूख अपनाए हुए है।

वही हिंदू महासभा ने सरकार से यह भी मांग की थी कि सीएए का विरोध करने वालों को पुलिस गो’ली मा’र दे ताकि यह लोगों सीएए की सुरक्षा और इनके प्रदर्शन स्थल की सुरक्षा पर टैक्सपेयर्स का पैसा न खर्च हो।

आपको बता दें सीएए और एनआरसी को लेकर देशभर में विरोध-प्रदर्शन हो रहे है। तो कहीं इसके समर्थन में रैलियां निकाली जा रही है। लखनऊ के घंटाघर, पटना के सब्जीबाग, मुंबई में मुंबई बाग जैसी जगहों पर लंबे समय से सीएए और एनआरसी का विरोध प्रदर्शन हो रहे है।