प्रदर्शनकारी महिलाएं बोली, ‘जो जालिम बादशाह है, अल्लाह-ताला उसके दिमाग में नरमी बक्शे

नई दिल्ली: देश भर में जारी CAA के विरोध प्रदर्शन अपने चरम पर हैं। शाहीन बाग़ में भी महिलाओं का विरोध प्रदर्शन जारी हैं। जो जालिम बादशाह है, अल्ला ताला उनके दिमाग़ में नरमी बक्शे। ये कहना है प्रदर्शनकारी महिला का जो बिहार के गया में CAA के खिलाफ प्रोटेस्ट कर रही हैं। भारी मात्रा में इस प्रोटेस्ट में लोग यहाँ इकट्ठा हो रहें हैं। इस प्रदर्शन में महिलाएं भी अधिक संख्या में मौजूद हैं।

आपको बता दें के शाहीन बाग़ की तर्ज पर गया शहर के शांति बाग में हो रहा ये प्रदर्शन 29 दिसंबर से शुरू हुआ था। वही उत्तर प्रदेश के अधिकतर शहरों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। जिनमें से प्रयागराज शहर के मंसूर अली खान पार्क में हर उम्र के लोग प्रदर्शन में शामिल हैं इसमें 5000 से ज्यादा महिलायें शामिल हैं।

वही महिलाओं का कहना की वे दिल्ली के शाहीन बाग़ में हो रहे महिला विरोध प्रदर्शन से प्रेरित हैं। वे कहती हैं कि जब वे प्रदर्शन कर रही हैं तो हम उनकी बहने भी उनके साथ हैं। वही बिहार के पटना में भी विरोध प्रदर्शन चल रहा है। यहाँ पर हारून नगर इलाके में विरोध प्रदर्शन जोरों पर है वहीँ शहर के सब्जीबाग इलाके में चल रहे प्रदर्शन का एक बड़ा भाग मुस्लिम महिलाओं का है, जो CAA का विरोध कर रहीं हैं।

इन विरोध प्रदर्शनों की शुरुआत सबसे पहले दिल्ली से शांतिपूर्ण तरीके से हुई थी। इस प्रदर्शन में बच्चे, बूढ़े और महिलायें सभी साथ बैठ कर प्रदर्शन कर रहे हैं। अभी हाल ही में जब जामिया के स्टूडेंट्स ने विरोध में मार्च निकाला तो हिं’सा भड़क गयी।

हलाकि हिं’सा के बाद पुलिस ने कार्रवाई की और कई लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद से शाहीन बाग़ में विरोध प्रदर्शन तेज़ हो गया हैं और वह विपक्ष भी आकर अपना समर्थन दे रहा है। जहाँ हाल ही में मणिशंकर अय्यर और शशि थरूर प्रदर्शन स्थल पर गए और लोगों को समर्थन दिया।