VIDEO: चुनाव आयोग ने गायब किये राहुल गाँधी के 6 लाख वोट, सबसे बड़ा ख़ुलासा

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लोकसभा चुनाव 2019 के रण में दो सीटों यूपी की अमेठी और केरल की वायनाड से किस्मत आजमा रहे हैं. जिसमें से राहुल गांधी को गांधी परिवार का गढ़ कहे जाने वाली अमेठी संसदीय सीट से बीजेपी नेता स्मृति ईरानी के हाथों हार का सामना करना पड़ा. लेकिन वाडनाड से राहुल गांधी ने एक बड़ी जीत दर्ज करके संसद तक पहुंचने की राह बना ली है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को वायनाड सीट से कुल 7,06,367 वोट मिले. जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंदी कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया के पीपी सुनीर को सिर्फ 2,74,597 वोट प्राप्त हुए.

राहुल गांधी ने पीपी सुनीर को 4,31770 वोटों से करारी मात दी. लेकिन जब 23 मई को मतों की गणना चल रही थी तो राहुल गांधी वायनाड सीट से ऐतिहासिक जीत दर्ज करने की तरह बढ़ रहे थे लेकिन बाद में इतिहास ने अपना रास्ता ही बदल लिया.

दरअसल राहुल गांधी एक समय 8 लाख 38 हजार 371 वोटों की बढ़त हासिल कर चुके थे. वहीं उन्हें कुल पड़े वोटों में से करीब 65 फीसदी वोट मिलते हुए नजर आ रहे थे. राहुल गांधी केरल में अपने राजनीतिक जीवन की सबसे बड़ी जीत की तरफ बढ़ रहे थे लेकिन इसी बीच चुनाव आयोग ने सारा खेल बिगड़ दिया.

दिन के करीब साढ़े चार बजे राहुल गांधी को 13,37,438 वोट मिल चुके थे. लेकिन शाम होते होते ये आंकड़ा ऐसे बदला कि यकीन करना भी मुश्किल हो रहा है. शाम साढ़े पांच बजे लिए गए एक और स्क्रीन शॉर्ट में राहुल गांधी को 6,80,884 वोट मिले हैं. हालांकि वोट प्रतिशत वही है लेकिन राहुल गांधी को मिले वोटों की तादात आधी ही रह गई.

ऐसे में सवाल उठता है कि यह सब हुआ कैसे? आखिर शाम होते-होते राहुल गांधी को मिले वोट कैसे हो गए. वोट घटाने का खेल किसने किया है? क्या EC की साईट हैक हुई थी? या कोई टेक्नीकल इस्सू रहा? या EVM के बाद अब वेबसाईट घोटाला भी हो गया? इसे लेकर अभी तक चुनाव आयोग की तरह से कोई जवाब नहीं आया हैं.

वहीं सोशल मीडिया पर चर्चा है कि आखिर यह कैसे हो सकता हैं. इसे लेकर कई लोग वीडियो बना रहे है और चुनाव आयोग पर शक जता रहे हैं. कई सोशल मीडिया यूजर इसमें चुनाव आयोग की धांधली बता रहे हैं.