Home खाड़ी देश रमज़ान के पाक महीने में दुनियाभर में इफ़्तार का सामान बांटने पर UN ने सऊदी को किया सम्मानित

रमज़ान के पाक महीने में दुनियाभर में इफ़्तार का सामान बांटने पर UN ने सऊदी को किया सम्मानित

रमज़ान के पाक महीने में दुनियाभर में इफ़्तार का सामान बांटने पर UN ने सऊदी को किया सम्मानित

सऊदी अरब रमज़ान शुरू होने के बाद से ही लगातार कई गरीब देशों की सहायता करने में लगा हुआ है. रमजान के इस पाक माह में जिन लोगों के पास इफ्तार की व्यवस्था भी नहीं है उन्हें सऊदी द्वारा इफ्तार का सामान बांटा जा रहा है. इसी के चलते अब शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र उच्चायुक्त (UNHCR) ने सऊदी अरब की सराहना की हैं.

सऊदी अरब की दुनिया भर में अपने जीवनरक्षक शरणार्थी सहायता कार्यक्रमों के लिए जमकर सराहना हो रही हैं. खाड़ी सहयोग परिषद (जीसीसी) देशों के UNHCR में क्षेत्रीय प्रतिनिधि खालिद खलीफा ने किंग सलमान मानवतावादी सहायता और राहत केंद्र (KSRelief) के महासचिव डॉ. अब्दुल्ला अल-रबेह से मुलाकात की.

king salman
Image Source: Google

खालिद खलीफा ने इस मुलाकात के दौरान सऊदी अरब की जमकर प्रशंसा की. रियाद में KSRelief के मुख्यालय में हुई इस मुलाकात के बाद मीडिया से रूबरू होते हुए खलीफा ने सैकड़ों हजारों शरणार्थियों की स्थितियों को सुधारने में UNHCR के साथ सहयोग करने के लिए सऊदी के राहत केंद्र को धन्यवाद दिया.

KSRelief ने अपने एक बयान में अरब न्यूज़ को बताया कि दोनों अधिकारियों के बीच कई संकटग्रस्त देशों, विशेष रूप से यमन में राहत केंद्र के काम को लेकर चर्चा हुई. संयुक्त कार्यकारी परियोजनाओं के माध्यम से यमनी, रोहिंग्या और सीरियाई शरणार्थियों की पीड़ा को दूर करने के लिए किंगडम के अतिरिक्त प्रयासों की समीक्षा भी की गई.

saudi ramzan
Image Source: Google

खलीफा ने कहा कि वह दोनों पक्षों के बीच रणनीतिक संबंधों को मजबूत करने के लिए काफी उत्साहित हैं और उन्होंने इस्लामिक मूल्यों और मानवीय कार्रवाई को जोड़ने के लिए शरणार्थियों के रूप में सऊदी अरब के दृष्टिकोण का वर्णन भी किया.

उन्होंने कहा कि KSRelief UNHCR के सबसे महत्वपूर्ण साझेदारों में से एक रहा हैं जो यमन में आंतरिक रूप से विस्थापित लोगों के लिए बुनियादी राहत सामग्री और बांग्लादेश में रह रहे रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए आपातकालीन सहायता प्रदान करता रहा हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here