रमज़ान में फिलिस्तीनियों पर ह’म’लों से नाराज़ होकर, हजारों की भीड़ के साथ लंदन की सड़कों पर उतरी अहद तमीमी

इजराइल सुरक्षा बलों द्वारा हाल ही में फिलिस्तीनी मुस्लिमों पर हमला किया था. रमज़ान के पाक माह में भी इजराइल का फिलिस्तीनियों पर जारी अत्या’चार थमने का नाम नहीं ले रहा हैं. इसी बीच लंदन में फिलिस्तीनी नाकबा की सत्तरवीं वर्षगांठ पर हजारों की तादात में लोग सड़कों पर उतरे और फिलिस्तीनी मुद्दे को खत्म करने की अपील की.

शनिवार को  लंदन में फिलिस्तीनी नाकबा को चिह्नित करने के लिए केंद्रीय लंदन के माध्यम से निकाले गए इस मार्च में हजारों की संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया. इस साल एक नए सौदे की योजना के साथ मेल खाता है जो फिलिस्तीनी मुद्दे को खत्म कर देगा.

Fress Palestine
Source: Google

इस प्रदर्शन का आयोजन ब्रिटेन में फिलिस्तीनी मंच, फिलिस्तीन एकजुटता अभियान, मुस्लिम एसोसिएशन ऑफ़ ब्रिटेन और स्टॉप द वॉर कैंपेन द्वारा संयुक्त रूप से किया गया था. इस दौरान फ्री फिलिस्तीन, और गाजा में अंत घेराबंदी जैसे नारों लिखी तख्तियों के साथ प्रदर्शनकारियों ने फिलिस्तीनीयों के लिए जमकर नारेबाजी की.

पोर्टलैंड प्लेस में जुलूस शुरू हुआ और प्रदर्शनकारी ऑक्सफोर्ड सर्कस और ट्राफलगर स्क्वायर से होते हुए डाउनिंग स्ट्रीट स्थित सरकारी कार्यालय पहुंचा. ब्रिटेन में फिलिस्तीनी राजदूत हुसैन ज़ोमलॉट ने फिलिस्तीनी लोगों और उन सभी के नेतृत्व की पूरी तरह से अस्वीकृति की पुष्टि की.

Stop The War
Source: Google

इसी दौरान PFB के चेयरमैन हाफिज अल-कर्मी ने ब्रिटिश सरकार से बालफोर घोषणा की ऐतिहासिक गलती के लिए माफी मांगने और सरकार के कब्जे वाली भूमि में फिलिस्तीनी लोगों की सुरक्षा के लिए काम करने का आह्वान किया. इसी दौरान हुसैन ने बताया कि संदिग्ध डील ऑफ सेंचुरी के बारे में जानकारी लीक हो गए हैं.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *